राजनीति

उपचुनाव की आहट मिलते ही कांग्रेस भी हुई सक्रिय

प्रदेश में उपचुनाव अक्टूबर में होने की आहट मिलते ही कांग्रेस भी अब तेजी से सक्रिय हो गई है। विधानसभा चुनाव 2018 की तर्ज पर कांग्रेस 27 सीटों पर होने वाले उपचुनाव के लिए अलग-अलग वादे अपने वचन पत्र में करेगी। इसके लिए चंबल संभाग के कांग्रेस नेताओं और पदाधिकारियों से आज पीसीसी चीफ कमलनाथ ने सुझाव मांग लिए हैं। इन क्षेत्रों के कांग्रेस नेताओं और पदाधिकारियों के साथ ही समन्वयक और पर्यवेक्षकों से सुझाव मांगे जाने लगे हैं। इसी क्रम में आज कमलनाथ ने ग्वालियर-चंबल संभाग की तीन विधानसभा क्षेत्र के नेताओं से वचन पत्र में शामिल करने के लिए सुझाव मांगे हैं। कमलनाथ स्वयं हर सीट पर वचन पत्र में वादे शामिल करने के लिए बैठक करेंगे। कमलनाथ के बंगले पर आयोजित हुई दिमनी, अम्बाह और मुरैना की बैठक में यहां के नेताओं से वचन पत्र में विकास के मुद्दे शामिल किए जाने के लिए सुझाव लिए।  इन सुझाव पर कांग्रेस की एक टीम अध्ययन करेगी। इसके बाद इसे वचन पत्र में शामिल किया जाएगा।

कन्या विवाह राशि कम करने पर बिफरे नाथ
प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष कमलनाथ ने कन्या विवाह योजना की राशि 51 हजार से घटाकर 28 हजार करने के प्रदेश सरकार के फैसले पर नाराजगी जताई है। उन्होंने कहा कि सरकार ने राशि नहीं बढ़ाई तो कांग्रेस सड़कों पर उतरेगी।