जबलपुर

लगातार बारिश से शहर जलमग्न कई वार्डों में घरों-किचन में घुसा पानी

बालाघाट
नगर पालिका बालाघाट और जिला प्रशासन की कार्यप्रणाली पर जितना तंज कसा जाये, वह कम है। चंद घंटो की बारिश ने स्वच्छता अभियान के तहत साफ सफाई और स्वास्थ के नाम पर डिंडौरा पीटने वाली बालाघाट नगर पालिका परिषद् की पोल खोलकर रख दी है। जहां बालाघाट शहर के अधिकांश हिस्सों में जलभराव की स्थिति बन गई और कई वार्डो में लोगो के घरो में पानी घूस गया। शहर के नीचले ईलाको में बसे मकान टापू में तब्दील हो चुके है।

शहर की गलियो से लेकर घर के अांगन तक और किचन से लेकर बैडरूम तक पानी ही पानी नजर आ रहा है, लेकिन बालाघाट नगर पालिका के जिम्मेंदारो को इसका जरा सा भी आभास नहीं है। वे अपनी कार्यप्रणाली पर सिर्फ अफसोस जताते नजर आ रहे है। जहां इस समस्या पर जनप्रतिनिधियों और नगरपानिलका प्रशासन पर सवाल उठने लगे है। बता दे, साफ सफाई के अभाव में शहर की नालियो की हालत इतनी खराब कि चंद घटो की बारिश में नालिया उफान मारने लगी है और पानी घरो में प्रवेश कर जाता है। लेकिन लाख शिकायतों और जलमग्न शहर का नजारा देखने के बाद भी नगरपालिका नालियों की साफ सफाई को लेकर हरकत में नहीं आती। यह समस्या प्रतिवर्ष की है, जिसका निराकरण करना नगरपालिका प्रशासन के बस मे ंनही रहा। अब जनता भी जनप्रतिनिधियो पर सवाल दागने लगी है कि हाथ फैलाये वोट मांगने वाले इस समस्या के निराकरण करने आगे क्यो नही आ रहे।

नगर के प्रेमनगर, नर्मदा नगर, निर्मल नगल सहित हनुमान चौक जैसे चर्चित स्थान पर इस कदर जलभराव की स्थिति बन आती है कि सड़के नजर नहीं आती। नगर मुख्यालय में हाईवे मार्ग पर तैरता पानी, बाढ़ के रूप में नजर आता है।

नगर पालिका प्रशासन के उदासीन और चाटुकारिता रवैये के चलते जब भी इंद्रदेव का कहर बरसा है, जनता को मुसीबतों से जंग लडनी पडी है। जब भी बादल बरसे है, शहर में जल भराव की यह समस्या हमेशा हुई है। लेकिन समस्याओं के तले आम नागरिक अत्यंत प्रतिकूल परिस्थितियों में रहने को मजबूर हुआ है, परंतु नगरीय प्रशासन द्वारा जल निकासी को लेकर कोई सुनियोजित व्यवस्था नही की गई है। हमारा नगरपालिका प्रशासन भ्रष्टाचार जैसी बीमारी से ग्रसित हो चुका है।

दीनदयाल पुरम में जलभराव
भारी बारिश से चिंतित होकर नगर के दिनदयाल पुरम नगर के वाशिंदों ने हमेशा जल भराव की स्थिति से नगर पालिका परिषद् को रूबरू कराया है। जब भी भारी हुई है तब-तब दीनदयाल पुरम नगर में जलभराव हुआ है। लेकिन रात्रि में हुई बारिश से स्थिति ऐसी नजर आई कि दिनदयाल पुरम नगर के कई घरों और दफ्तरो में पानी अंदर तक घुस आया। यह सारा नतीजा नगर पालिका की कार्यप्रणाली है। पानी निकासी के लिये बनाया गया नाले की वर्षो से साफ सफाई नहीं हुई है, नालिया जाम हो चुकी है जिस कारण चंद घटे की बारिश में नाली भर जाती है और उफान मारते हुए पानी स्थानीय नगरवासियों के घरों और दफ्तरों में घुस जाता है। इस समस्या को लेकर कई मर्तबा शिकायत की गई लेकिन शिकायतों से भरी फाईल नगर पालिका में हमेशा धूल खाते ही नजर आएगी। जिस कारण सही मायने में शहर की नालियो की साफ सफाई वर्षो तक देखने नही मिलती।

Related Articles

Close