व्यापार

शेयर बाजार गिरा, निवेश के लिए खुले 18 लाख नए म्यूचुअल फंड खाते

कोरोना संकट की वजह से मार्च में शेयर बाजार में बड़ी गिरावट देखने मिली थी. 23 मार्च को निफ्टी ने 7600 के आंकड़े को छुआ था. उसके बाद बाजार में एकतरफा रैली की वजह से निफ्टी अब 11 हजार के पार कारोबार कर रहा है. 

  • दरअसल, मार्च में गिरावट की वजह से निवेशकों को शेयर बाजारों में निवेश का अच्छा अवसर मिल गया. कुछ लोगों ने सीधे शेयर बाजार में पैसे लगाए तो कुछ निवेशकों ने शेयर बाजारों में म्यूचुअल फंड के जरिये निवेश के रास्ते को चुना.
  • पिछले तीन महीनों (अप्रैल-जून) में फोलियो की संख्या में भारी बढ़ोतरी हुई है. म्यूचुअल फंड में जून तिमाही में खासा निवेश बढ़ा है. पीटीआई के मुताबिक म्यूचुअल फंड इंडस्ट्री ने जून तिमाही में 18 लाख निवेशक अकाउंट जोड़े हैं. 
  • कोरोना संकट के बीच म्यूचुअल फंड में फोलियो की कुल संख्या बढ़कर 9.15 करोड़ हो गई है. म्यूचुअल फंड्स इन इंडिया के आंकड़ों के अनुसार, जून तिमाही में फोलियो की संख्या 17.96 लाख बढ़कर 9,15,42,092 हो गई.
  • इससे पहले मार्च तिमाही के अंत तक यह आंकड़ा 8,97,46,051 था. मार्च के अंत में कोरोना संकट गहराया और फिर देश में लॉकडाउन लगाना पड़ा. लेकिन इस दौरान लोगों ने अपने निवेश को बनाए रखा. साथ ही बड़े पैमाने पर नए निवेशक भी जुड़े.
  • यही नहीं, पिछले करीब तीन महीनों में शेयर बाजार और म्यूचुअल फंड ने निवेशकों को शानदार रिटर्न दिया है. इस दौरान नए निवेशकों के लिए निवेश शुरू करने का भी बेहतर मौका था. कुछ लोगों ने इसका फायदा भी उठाया है.
Tags

Related Articles

Close