राजनीति

राजस्थान में सुलह का फॉर्मूला! गृह-वित्त मंत्रालय के साथ अध्यक्ष पद रखना चाहते हैं सचिन पायलट

जयपुर  
राजस्थान में एक बार फिर राजनीतिक हालात करवट लेते हुए दिख रहे हैं. सोमवार दोपहर को मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने सौ से अधिक विधायकों की परेड करवाकर अपना शक्ति प्रदर्शन किया. इस बीच अब सचिन पायलट की ओर से बातचीत का फॉर्मूला सामने रखा जा रहा है. इसी संदेश को लेकर केंद्रीय नेतृत्व की ओर से राजीव साटव जयपुर पहुंचेंगे.

सूत्रों की मानें, तो सचिन पायलट की मांग है कि उनके चार विधायकों को मंत्री बनाया जाए. साथ ही सचिन पायलट के मंत्रियों को वित्त और गृह मंत्रालय दिया जाए. जबकि प्रदेश अध्यक्ष का पद भी सचिन पायलट के पास ही रहे. बताया जा रहा है कि प्रियंका गांधी खुद इस मामले में एक्टिव हैं और अशोक गहलोत-सचिन पायलट से बात कर रही हैं. ताकि मामले को सुलझाया जा सके.

नरम पड़ गए सचिन पायलट?
गौरतलब है कि सचिन पायलट लगातार दावा कर रहे थे कि उनके पास 30 से अधिक विधायकों का समर्थन है, लेकिन अब ऐसा नहीं दिख रहा है क्योंकि अशोक गहलोत सौ से अधिक विधायकों की परेड करा चुके हैं. ऐसे में सचिन पायलट की ओर से सुलह की कोशिश की जा सकती है, लेकिन अब कांग्रेस पर नजर रहेगी कि वो क्या फैसला लेते हैं.

बता दें कि कांग्रेस पार्टी ने सोमवार दोपहर को ही अपील की थी कि सचिन पायलट चाहें तो बात कर सकते हैं, वो बैठक में आएं और सभी मुद्दों को हल करने पर विचार करें. हालांकि तब लगातार सचिन पायलट की ओर से बैठक में जाने से इनकार किया जा रहा था.

सचिन पायलट पिछले दो दिनों से दिल्ली में ही हैं और जयपुर ना आने की बात कर रहे थे. हालांकि, रणदीप सुरजेवाला ने दावा किया था कि पिछले 48 घंटे में कांग्रेस नेतृत्व ने सचिन पायलट से कई बार बात की है.

Tags

Related Articles

Close