इंदौर

शाही ठाठबाट के साथ निकलेगी बाबा महाकाल की सवारी

उज्जैन
उज्जैन. महाकालेश्वर की सावन की पहली सवारी सोमवार शाम 4 बजे मंदिर परिसर से पूजन के बाद बिना भक्तों के निकली। संक्रमण को देखते हुए सवारी के लिए मार्ग छोटा कर ग्रीन कॉरिडोर बनाया गया है। सवारी निकले के कुछ देर पहले सवारी मार्ग पर आने वाले रास्तों को बैरिकेडिंग कर बंद कर दिया गया। सोमवार से ही सावन की शुरूआत हुई है, ऐसे में बाबा महाकाल का सुबह विशेष श्रृंगार किया गया। सुबह से ही भक्त बाबा के दर्शन के लिए लाइन में लगे। पूरा मंदिर परिसर बाबा के जयकारों ने गुंजायमान हो गया।लेकिन भक्तों को बाबा महाकाल के दर्शन के लिए मंदिर समिति और प्रशासन ने एक खास व्यवस्था की है जिसके जरिए भक्त घर बैठे बाबा महाकाल की शाही सवारी के लाइव दर्शन कर पाएंगे।

शाही सवारी का होगा LIVE
बाबा महाकाल में भक्तों की आस्था को देखते हुए महाकाल मंदिर समिति ने महाकाल की शाही सवारी के LIVE प्रसारण की व्यवस्था की है। पहली बार सवारी की लाइव कमेंट्री भी की जाएगी और भक्त घर बैठे अपने मोबाइल पर शाही सवारी के दर्शन कर पाएंगे। शाही सवारी के LIVE प्रसारण के लिए मंदिर समिति ने पूरी तैयारियां कर ली हैं और जिस मार्ग से बाबा महाकाल की सवारी निकलेगी उस पर 25 आधुनिक कैमरे लगाए गए हैं जिनके जरिए सवारी का LIVE प्रसारण होगा। सवारी के LIVE प्रसारण में किसी तरह की गड़बड़ी न हो इसके लिए हरसिद्धि मंदिर के पास आधुनिक कंट्रोल रूम बनाया गया है।

यहां देख सकते हैं LIVE
महाकाल मंदिर की वेबसाइट, महाकाल ऐप,फेसबुक पेज और डिजिटल चैनलों के जरिए बाबा महाकाल की शाही सवारी का LIVE प्रसारण किया जाएगा। एक्सपर्ट्स सवारी की लाइव कमेंट्री भी करेंगे और पहली बार भक्तों को सवारी के इतिहास और महत्व के साथ साथ सवारी का आंखों देखा हाल सुनाएंगे।

कोरोना के चलते बदली व्यवस्था
कोरोना संक्रमण के खतरे के चलते इस साल महाकाल की शाही सवारी की व्यवस्था में बदलाव किया गया है। शाही सवारी से पहले सभा मंडप में भी केवल 20 लोग मौजूद रहेंगे। सवारी की पालकी के साथ 30 लोगों को उपस्थित रहने की अनुमति दी गई है इनमें सुरक्षाकर्मी शामिल नहीं हैं। शाही सवारी में शामिल होने वाले 50 लोगों का प्रशासन ने कोरोना टेस्ट भी कराया है। जिसकी रिपोर्ट नेगेटिव आने पर ही उन्हें सवारी में शामिल होने दिया जाएगा।

Tags

Related Articles

Close