छत्तीसगढ़रायपुर

डीजीपी ने वीडियो कॉलिंग के जरिए की 128 थानेदोरों से बात

रायपुर। मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल ने प्रदेश के सभी थानों को आदर्श थाना के रूप में विकसित करने के निर्देश दिए हैं। मुख्यमंत्री की मंशा के अनुरूप आदर्श थाना और आदर्श थाना प्रभारी योजना 1 जुलाई से शुरू की जा रही है। इसी क्रम में डीजीपी श्री डीएम अवस्थी ने आज प्रदेश के 128 से अधिक थानेदारों से वीडियो कॉलिंग एप के जरिये एक साथ बात की। उन्होंने कहा कि जो भी आदर्श थाना के तय मापदंडों पर खरा उतरेंगे उन्हें पुरस्कृत किया जाएगा।
अवस्थी ने सभी थाना प्रभारियों को बताया कि आदर्श थाना के कुछ मापदंड तय किये गये हैं। जैसे थानों में आमजन के साथ थाना प्रभारी और अन्य स्टाफ का आचरण कैसा है। पीड़ित व्यक्ति, महिलाएं और बच्चे थानों में बैखौफ होकर अपनी बात कह पाएं। फरियादियों के साथ संवेदनशील व्यवहार रखें और उनकी समस्याओं का तत्काल समाधान करें। गुंडे-बदमाशों और असामाजिक तत्वों के विरुद्ध पुलिस द्वारा कठोरतम कार्रवाई की जाए। थाना में रिकॉर्ड का रखरखाव अच्छा हो। थाना परिसर का वातावरण ऐसा हो कि प्रवेश करते ही मन-मस्तिष्क में सकारात्मक प्रभाव पड़े। आदर्श थाना बनने के लिये सभी थाने आपस स्वस्थ्य प्रतियोगिता रखें जिससे ज्यादा से ज्यादा थाने आदर्श बन सकें। इस अवसर पर एडीजी श्री आर के विज, श्री हिमांशु गुप्ता, दुर्ग आईजी श्री विवेकानंद सिन्हा, रायपुर आईजी डॉ आनंद छावड़ा, एआईजी श्री राजेश अग्रवाल, डीएसपी श्री कवि गुप्ता उपस्थित रहे।
बोड़ला थाना को मिला केंद्र सरकार से आदर्श थाना का पुरस्कार-
छत्तीसगढ़ पुलिस के लिये गर्व की बात है कबीरधाम जिले के बोड़ला थाना को केंद्रीय गृह मंत्रालय की तरफ से आदर्श थाना का पुरस्कार प्राप्त हुआ है। डीजीपी श्री डीएम अवस्थी ने आज दुर्ग आईजी श्री विवेकानंद सिन्हा, कबीरधाम जिले के एसपी श्री के एल ध्रुव और बोड़ला थाना के टीआई श्री संतराम सोनी को प्रमाण पत्र प्रदान किया। उल्लेखनीय है कि केंद्रीय गृह मंत्रालय की तरफ से छत्तीसगढ़ के 465 थानों में से बोड़ला थाना को एनुअल रैंकिंग आॅफ पुलिस स्टेशन 2019 में सर्वश्रेष्ठ थाना चुना गया है।

Related Articles

Close