छत्तीसगढ़बिलासपुर

मरकाम ने डाला डेरा, जयसिंह को प्रभार के बाद मरवाही में गमार्यी सियासत

बिलासपुर
पूर्व मुख्यमंत्री अजीत जोगी के निधन के बाद रिक्त हुई मरवाही विधानसभा सीट पर उपचुनाव को लेकर राजनीतिक पार्टियों ने तैयारी शुरू कर दी है। पीसीसी अध्यक्ष दो दिन से प्रवास पर हैं,जय सिंह अग्रवाल को नए जिले का प्रभारी बना दिया गया है। चूंकि सत्ता में हैं कांग्रेस इसलिए वे अब किसी हाल में यह सीट हथियाने तैयार हैं। आज अमित जोगी का ट्वीट पर आया बयान भी इसी से जोड़कर देखा जा रहा है जिसमें उन्होने कहा है कि मरवाही का हर व्यक्ति जोगी के रूप में चुनाव लड़ेगा।

मरकाम ने गौरेला और पेन्ड्रा में कार्यकतार्ओं की बैठक के दौरान कहा कि कार्यकतार्ओं की तैयारी में कमी की वजह से ही हम इस सीट पर पिछड़ते रहे। कार्यकर्ता परिश्रम करे और जनता के सम्पर्क में रहे तो उनकी जीत तय होती है। यदि कांग्रेस बार-बार मरवाही से हारती रही तो इसके लिये कार्यकर्ता भी जिम्मेदार हैं।

मरकाम ने गौरेला के अग्रसेन भवन में ब्लॉक कांग्रेस कमेटी की बैठक में कहा कि ऊजार्वान कार्यकर्ता उप-चुनाव को जीतने के लिये अभी से बूथ स्तर पर काम शुरू कर दें। परोक्ष रूप से जोगी परिवार पर निशाना साधते हुए मरकाम ने कहा कि मरवाही विकास की दौड़ में बहुत पिछड़ गया है, जिसके लिये वे लोग जिम्मेदार हैं जो अब तक यहां से जीत कर जा रहे थे। लोगों ने उन्हें अपने क्षेत्र के विकास के लिये जिताया पर वे देश-प्रदेश की राजनीति करने लगे। मरकाम ने कहा कि अब कांग्रेस की विधानसभा में 70 सीटें होनी चाहिये, यानि मरवाही की सीट पर जीत मिलनी चाहिये। मुख्यमंत्री ने सरकार आने पर गौरेला-पेन्ड्रा-मरवाही को नया जिला बनाने की बहु-प्रतीक्षित मांग को अपने वादे के अनुरूप पूरा भी कर दिया है।इस मौके पर कार्यकतार्ओं ने भी अपनी बात रखी। उन्होंने कहा कि संगठन में पद निजी पसंद, नापसंद के हिसाब से नहीं दिया जाना चाहिये।

Related Articles

Close