छत्तीसगढ़बिलासपुर

तोरवा चोरी प्रकरण में चोर व खरीददार गिरफ्तार

बिलासपुर
पिछले दिनों अलग-अलग क्षेत्र के सूने घरों  में धावा बोल लगभग पौने दो लाख मूल्य के स्वर्ण आभूषण के साथ नगदी पर हाथ साफ करने वाले चोर तथा चोरी के उक्त माल को खरीदने वाले ग्राहक सहित चार आरोपियों को सरकंडा पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया तथा उनके पास से माल भी बरामद किया है। पुलिस ने इस प्रकरण में दो आरोपियों को पहले गिरफ्तार किया जबकि दो आरोपियों की गिरफ्तारी आज हुई।

लगातार हो रही चोरी की वारदातों पर अंकुश लगाने और आरोपियों को गिरफ्तार करने के लिये पुलिस कप्तान प्रशांत अग्रवाल ने सख्त निर्देश दिए थे। पुलिस कप्तान के निदेर्शों के बाद अतिरिक्त पुलिस कप्तान शहर ओमप्रकाश शर्मा तथा  नगर पुलिस अधीक्षक श्रीमती निमिषा पांडे ने व सरकंडा थाना प्रभारी शनिप रात्रे ने आरोनियों को पकड?े के लिये योजना बनाई जिसके तहत आदतन बदमाश व निगरानी शुदा बदमाशों को हिरासत में लेकर उनसे कड़ी पूछताछ शुरू की। इसी दरम्यान पुलिस को मुखबीर से जानकारी मिली की राजकिशोर नगर निवासी देवेन्द्र वैष्णव ने चोरी की वारदातों को अंजाम दिया है। देवेन्द्र चोरी के माल को बेचने की जुगत में है। इस पर पुलिस तत्काल हरकत में आई और देवेन्द्र से माल खरीदते  मुन्ना सोनी को  गिरफ्तार कर लिया। पुलिस इससे पहले देवेन्द्र के भाई धीरेन्द्र और उसके साथी गोपी निषाद को  दो दिन पूर्व ही गिरफ्तार कर चुकी थी।

पुलिस ने जब देवेन्द्र से पूछताछ की तो उसने अपने भाई धीरेन्द्र वैष्णव व उसके साथी गोपी निषाद के साथ चोरी की वारदातों को कबूल किया। इनमें से दो वारदतों को उन्होंने सरकंडा और एक वारदता तोरवा में अंजाम दिया। आरोपियों ने सरकंडा थाना क्षेत्र के सुंदर नगर में रोहित साहू के यहां मार्च में चोरी की वारदात को अंजाम दिया रोहित के यहां से वे 12 हजार रुपए नगदी के अलावा सोने चांदी के जेवर ले गये इसी प्रकार से एक अन्य चोरी की घटना को अंजाम देते हुए वहां से भी वे सोने चांदी के अलावा नगदी लेकर फरार हो गए। पुलिस ने पकड़े गए आरोपियों के खिलाफ अपराध क्रमांक 490/2020 धारा 45, 380 के तहत चोरी का प्रकरण दर्ज कर न्यायालय में पेश किया जहां आरोपियों को जेल भेज दिया गया।

Related Articles

Close