भोपाल

प्रदेश के सभी विश्वविद्यालय 29 जून से शुरू करेंगे एग्जाम लेने का सिलसिला

राज्यपाल लालजी टंडन की अध्यक्षता में स्नातक, स्नातकोत्तर कक्षाओं एवं अन्य कोर्स की परीक्षाएं के संबंध में सोमवार को बैठक रखी गई। बैठक में मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान, प्रमुख सचिव उच्च शिक्षा अनुपम राजन, प्रमुख सचिव तकनीकी शिक्षा करलिन खोंगवार तथा राज्यपाल के सचिव मनोहर दुबे भी मौजूद थे। बैठक में सभी विवि के सभी ईयर में जनरल प्रमोशन देने से इंकार कर दिया गया है।
बैठक में निर्णय लिया गया कि उच्च शिक्षा की स्नातक और स्नातकोत्तर कक्षाओं और कोर्स के अंतिम वर्ष/सेमेस्टर की परीक्षाएं 29 जून से 31 जुलाई में पूरी होंगी। यह व्यवस्था सभी निजी विश्वविद्यालयों और कालेजों में भी लागू होगी। उच्च शिक्षा की प्रथम, द्वितीय वर्ष की कक्षाओं/पाठ्यक्रमों की नियमित परीक्षाएं स्थिति सामान्य होने पर होंगी। यूजी और पीजी सहित अन्य कोर्स के फाइनल ईयर व सेमेस्टर की परीक्षाएं आॅफलाइन मोड में परीक्षा केंद्रों पर होगी। विश्वविद्यालय द्वारा प्रथम, द्वितीय एवं तृतीय वर्ष की कक्षाओं/सेमेस्टर के छात्रों की परीक्षाएं आॅफलाइन पेन-पेपर से दिनांक 2 जुलाई से 31 जुलाई को होंगी। जिनके रिजल्ट 25 अगस्त तक घोषित होंगे। कोई परीक्षार्थी किंही कारणों से परीक्षा में नहीं पाते हैं, तो उनके लिए विशेष परीक्षा होगी।

सितंबर और अक्टूबर में शुरू होगा सत्र
पीजी प्रथम सेमेस्टर और यूजी व अन्य कोर्स की प्रथम एवं द्वितीय वर्ष/सेमेस्टर के विद्यार्थी को अगली कक्षा में एक सितम्बर से नये सत्र में प्रवेश दिया जाएगा। इस वर्ष पीजी यूजी प्रथम वर्ष व सेमेस्टर में प्रवेश लेने वाले विद्यार्थियों का नया सत्र एक अक्टूबर से शुरू होगा।

बीयू ने दिया था 27 जून का प्रस्ताव
बरकतउल्ला विश्वविद्यालय के रजिस्ट्रार डॉ. बी भारती ने अपने अंतिम वर्ष और सेमेस्टर की परीक्षाएं 27 जून से कराने का प्रस्ताव तैयार कराकर उच्च शिक्षा विभाग को भेज दिया है। इसके चलते रजिस्ट्रार एक जून से आफिस खोलकर परीक्षाएं कराने की तैयारी शुरू करेंगे। इसके टाइम टेबिल जून के प्रथम सप्ताह में जारी होना शुरू कर दिए जाएंगे। इसी तिथि में राज्य के अन्य विवि भी परीक्षाएं कराएंगे।

16 जून से शुरू होंगी आरजीपीवी के एग्जाम
राजीव गांधी प्रौद्योगिकी विश्वविद्यालय की बीई, बीफार्मा, एमई एमफार्मा, एमसीए सहित अन्य कोर्स के सेमेस्टर की परीक्षाएं 16 से 30 जून में होगी। अंतिम सेमेस्टर परीक्षा पारम्परिक प्रणाली से होगी। उनके रिजल्ट 15 जुलाई तक घोषित होंगे। प्रथम से सातवें सेमेस्टर परीक्षाएं दोजुलाई लेना शुरू करेगा। वहीं आठवें सेमेस्टर की परीक्षाएं 23 जून से शुरू हो जाएंगी। एग्जाम में प्रदेशभर से करीब ढाई लाख विद्यार्थी शामिल होंगे। आरजीपीवी के आठवें सेमेस्टर की प्रायोगिक परीक्षाएं 16 और थ्यौरी परीक्षा 23 जून से शुरू होंगी। प्रथम से सातवें सेमेस्टर की इंजीनियरिंग और फार्मेसी परीक्षाएं दो जुलाई से 31 जुलाई तक चलेंगी।

तीन पाली में हो सकती हैं एग्जाम
आरजीपीवी प्रदेश के डेढ़ सौ इंजीनियरिंग कालेज और फार्मेसी के करीब 100 कालेजों को परीक्षा केंद्र बनाएगा। परीक्षाएं तीन पालियों में आयोजित कराई जाएंगी। पहली पाली सुबह नौ से 11 बजे तक दूसरी पाली दोपहर 12 से दो बजे तक तथा तीसरी पाली तीन से शाम पांच बजे तक चलेंगी। इसके चलते हरेक परीक्षा हाल में पचास के स्थान पर बीस-बीस विद्यार्थियों को बैठाने की व्यवस्था की जाएगी। इससे सोशल डिस्टेशन का पालन अच्छी तरह से हो सकेगा। उनकी निगरानी सीसीटीवी कैमरो से होगी। वहीं नकलचियों पर नजर रखने के लिए जरुरत होने पर पांच से ज्यादा उड़नदस्ते तैयार किए जाएंगे। इसमें पूर्व आईपीएस अफसरों को शामिल किया जाएगा। कोरोना वायरस से परिस्थितियां सामान्य नहीं होने की दशा में परीक्षाएं आॅनलाइन होंगी। आॅनलाइन परीक्षा दो-दो घंटे की होंगी। इसके पेपर बहु विकल्पीय रहेंगे।

26 से मेडिकल की परीक्षाएं
मेडिकल विवि जबलपुर ने भी अपनी बीडीएस, एमबीबीएस, एमडी एमएस और एमडीएस की परीक्षाएं 26 जून से कराने का टाइम टेबिल जारी किया है। इसके लिए विद्यार्थियों ने अपनी तैयारियां भी शुरू कर दी हैं।

Tags

Related Articles

Close