देश

कोविड-19 : आरोग्य सेतु ऐप इन दिनों चर्चा का केंद्र, अगर कोरोना निगेटिव रिपोर्ट नहीं तो आरोग्य सेतु ऐप अनिवार्य

नई दिल्ली
कोविड-19 के मरीजों को ट्रैक करने में मदद के लिए बनाया गया ट्रेसिंग ऐप आरोग्य सेतु इन दिनों चर्चा के केंद्र में है. लोगों को हिदायत दी जा रही है कि कोरोना संकट के दौर में आरोग्य सेतु ऐप जरूर डाउनलोड करें. नागरिक उड्डयन मंत्रालय ने आरोग्य सेतु की अनिवार्यता को लेकर स्पष्टीकरण दिया है.

नागरिक उड्डयन मंत्रालय ने साफ किया है कि घरेलू उड़ानों से जाने वाले यात्रियों के पास दो विकल्प होंगे. अगर यात्री ग्रीन जोन से आता है तो उसे अपने कोरोना निगेटिव होने की रिपोर्ट दिखानी होगी. टेस्ट हाल ही में फ्लाइट से पहले कराया गया हो. ऐसे में उसे बिना आरोग्य सेतु ऐप के भी यात्रा की इजाजत दी जा सकती है.

अगर कोरोना निगेटिव रिपोर्ट नहीं है तो आरोग्य सेतु ऐप अनिवार्य होगा. नागरिक उड्डयन मंत्रालय जल्द ही नए सिरे से यात्रियों के लिए गाइडलाइन जारी करेगा, जिसमें घरेलू यात्राओं के संबंध में जानकारी दी जाएगी.

सूत्रों के मुताबिक, नागरिक उड्डयन मंत्रालय की ओर से राज्यों के साथ घरेलू उड़ानें शुरू करने के संबंध में सहमति बनाई जा रही है. हवाई यात्रा की शुरुआत होने जा रही है. राज्यों भी सहयोग करने की बात कर रहे हैं.

कोरोना वायरस संकट के बीच देश में 25 मई से एक बार फिर घरेलू उड़ानों की सेवा शुरू हो रही है. पहली फ्लाइट दिल्ली एयरपोर्ट से सोमवार को सुबह 4.30 बजे उड़ान भरेगी. यात्रा के दौरान खास कोरोना प्रोटोकॉल का पालन अनिवार्य होगा और जरूरी सतर्कता लोगों को बरतनी होगी.

मंत्रालय ने यात्रा के लिए कुछ नियम तय किए हैं. यात्रियों को फ्लाइट के वक्त से दो घंटे पहले एयरपोर्ट पहुंचना अनिवार्य होगा. हर किसी को आरोग्य सेतु ऐप डाउनलोड करना होगा, जिनकी फ्लाइट चार घंटे बाद उड़ान भरेगी केवल उन्हें ही एयरपोर्ट पर एंट्री मिलेगी.

एयरपोर्ट पहुंचने से पहले यात्रियों को मास्क, ग्लव्स पहनना जरूरी होगा. एयरपोर्ट पर भी सोशल डिस्टेंसिंग का पालन अनिवार्य होगा. एयरपोर्ट और विमान के कर्मचारी पीपीई किट पहनेंगे. फ्लाइट के दौरान भी विशेष सतर्कता बरती जाएगी.