देश

जामिया हिंसा में यूनिवर्सिटी छात्र आसिफ गिरफ्तार, न्यायिक हिरासत में भेजा

नई दिल्ली
नागरिकता संशोधन कानून (सीएए) के विरोध में 16 दिसंबर 2019 को जामिया मिल्लिया इस्लामिया में हिंसा देखी गई थी. अब इस मामले में दिल्ली पुलिस ने जामिया मिल्लिया इस्लामिया के तीसरे वर्ष के स्नातक छात्र को गिरफ्तार किया है.

पुलिस के मुताबिक आसिफ इकबाल तन्हा फारसी भाषा में बीए के छात्र हैं. पुलिस का आरोप है कि आसिफ छात्र इस्लामी संगठन के सक्रिय सदस्य हैं और नागरिकता संशोधन कानून के खिलाफ हुई हिंसा में शामिल रहे हैं. 24 वर्षीय आसिफ शाहीन बाग के रहने वाले हैं और 16 दिसंबर 2019 को दिल्ली पुलिस के जरिए दर्ज मामले में उन्हें आरोपी बनाया गया है.

दिल्ली पुलिस के मुताबिक, 'आसिफ जामिया कोऑर्डिनेशन कमेटी (JCC) के प्रमुख सदस्य हैं और उन्होंने दिसंबर 2019 में जामिया में हुए विरोध प्रदर्शन और हिंसा के आयोजन में सक्रिय भूमिका निभाई है. आसिफ सीएए विरोध और हिंसा में शामिल प्रमुख सदस्य उमर खालिद, शरजील इमाम, मीरान हैदर और सफुरा का करीबी सहयोगी हैं.

छात्रों का अभियान

इस मामले में साकेत मजिस्ट्रेट कोर्ट ने आसिफ को 31 मई 2020 तक न्यायिक हिरासत में भेज दिया है. वहीं आसिफ को गिरफ्तार करने के बाद जामिया के छात्रों ने केंद्र पर छात्रों को निशाना बनाए जाने का आरोप भी लगाया. जिसके चलते छात्रों ने #ReleaseAsifTanha से सोशल मीडिया पर अभियान भी शुरू किया है.

Related Articles

Close