व्यापार

कोरोना लॉकडाउन के बाद बिक्री बढ़ाने के लिए ऑटो कंपनियों की नजर गांवों पर

 मुंबई
कोरोना वायरस के कारण लागू किए गए लॉकडाउन से ऑटोमोबाइल कंपनियों को बड़ा नुकसान हो रहा है। इन कंपनियों की अप्रैल में कोई बिक्री नहीं हुई। मारुति सुजुकी, महिंद्रा ऐंड महिंद्रा और हीरो मोटोकॉर्प जैसी बड़ी ऑटोमोबाइल कंपनियों के लिए आगामी महीनों में भी शहरों में डिमांड बहुत कम रह सकती है। इस वजह से ये कंपनियां ग्रामीण क्षेत्रों में अधिक बिक्री करने की तैयारी कर रही हैं।

ग्रामीण क्षेत्रों में ग्रोथ ज्यादा रहेगी
महिंद्रा फाइनैंस के मैनेजिंग डायरेक्टर रमेश अय्यर ने कहा, ‘वर्तमान स्थिति में ग्रामीण क्षेत्रों में ग्रोथ शहरों की तुलना में अधिक होगी। शहरों से वापस आए प्रवासी श्रमिकों को आमदनी के एक वैकल्पिक स्रोत की जरूरत होगी और इससे थ्री व्हीलर्स, पिकअप और लाइट कमर्शल वीइकल (LCV) की ग्रामीण क्षेत्रों में बिक्री बढ़ सकती है। ऐसे बायर्स के लिए फाइनैंस कंपनियां अधिक लोन देने के साथ ही इसे चुकाने की अवधि बढ़ाने पर भी विचार कर रही हैं।’

श्रमिकों को रोजगार अवसरों की जरूरत
गांवों में लौटने वाले प्रवासी श्रमिकों को रोजगार के अवसरों की जरूरत होगी। यह विशेष तौर पर उन कंपनियों के लिए एक अच्छी स्थिति हो सकती है, जिनके डीलर्स दूर-दराज के क्षेत्रों में भी मौजूद हैं। मारुति सुजुकी ने पिछले 7-8 वर्षों में ग्रामीण क्षेत्रों में अपनी पहुंच काफी बढ़ाई है। इन क्षेत्रों में कंपनी की बिक्री 2008 में 6-7 पर्सेंट से बढ़कर 2019 में 39 पर्सेंट पर पहुंच गई थी। मारुति सुजुकी के एग्जिक्युटिव डायरेक्टर शशांक श्रीवास्तव ने हाल ही में इकनॉमिक टाइम्स से कहा था कि गांवों में कोरोना वायरस का असर कम है और यह उन कंपनियों के लिए ग्रोथ का अच्छा मौका है, जिनकी इन क्षेत्रों में पहुंच है। एक्सपर्ट्स का कहना है कि आमतौर पर शहरों में मिलने वाली आमदनी गांवों तक पहुंचती है, लेकिन इस वर्ष ऐसा होना मुश्किल है।

महिंद्रा को अच्छी डिमांड की उम्मीद
महिंद्रा ऐंड महिंद्रा की पैसेंजर वीइकल की सेल्स में पिछले फाइनैंशल ईयर में ग्रामीण क्षेत्रों की हिस्सेदारी लगभग 45 पर्सेंट की थी। कंपनी को बोलेरो और स्कॉर्पियो जैसे मॉडल्स की इन क्षेत्रों में बिक्री अच्छी बनी रहने की उम्मीद है। कंपनी के CEO विजय नाकरा ने कहा, ‘आवश्यक वस्तुओं की सप्लाई की वजह से हमारी स्मॉल कमर्शल व्हीकल्स की रेंज के लिए अच्छी डिमांड मिल सकती है।’

ह्यूंडई भी आशान्वित
ह्युंडई मोटर्स के डायरेक्टर, सेल्स ऐंड मार्केटिंग, तरुण गर्ग ने बताया कि कंपनी की स्ट्रैटेजी में ग्रामीण क्षेत्रों में पहुंच बढ़ाना एक महत्वपूर्ण हिस्सा होगा। ह्युंडई की कुल बिक्री में ग्रामीण क्षेत्रों की हिस्सेदारी लगभग 19 पर्सेंट की है। दुनिया की बड़ी टू-वीइलर कंपनियों में शामिल हीरो मोटोकॉर्प को देश में अपनी बिक्री का आधा ग्रामीण क्षेत्रों से मिलता है। कंपनी को उम्मीद है कि रबी की फसल अच्छी होने और मॉनसून सामान्य रहने के पूर्वानुमान के कारण किसानों के पास खर्च करने के लिए पर्याप्त रकम होगी।
 

Tags

Related Articles

Close