छत्तीसगढ़रायपुर

मुंगेली में टोटल लॉकडाउन का दूसरा दिन, पूरे शहर में वाटर सप्लाई नहीं होने से परेशानी बढ़ी

मुंगेली
कोरोना वायरस (Coronavirus) से एहतियात के तौर पर छत्तीसगढ़ के मुंगेली (Mungeli) जिले में 3 दिनों का टोटल लॉकडाउन (Total Lockdown) है. इस टोटल लॉकडाउन का आज दूसरे दिन है. लेकिन शनिवार की सुबह मुंगेली नगरवासियों के लिए बड़ी परेशानियां लेकर आई. सुबह से ही वाटर सप्लाई ठप (Water Suply) होने से लोगों के बीच पानी के लिए हाहाकार मचने लगा. मुंगेली नगर पालिका द्वारा पूरे शहर में ही वाटर सप्लाई नहीं किए जाने से ऐसी स्थिति निर्मित हुई है. शहर में वाटर सप्लाई नहीं होने की वजह मुख्य नगर पालिका अधिकारी राजेन्द्र पात्रे ने बताया कि नगर पालिका के एक कर्मी की पिटाई पुलिस द्वारा की गई, जिससे नगर पालिका के कर्मचारी काम बंद कर दिया है.

मुख्य नगर पालिका अधिकारी के मुताबिक कर्मियों के काम करने की वजह से पम्प शुरू नहीं किया जा सका और ऐसे हालात बने हैं. अभी नाराज कर्मियों को समझाइश दी जा रही है और जल्द पानी की सप्लाई की जा सकेगी. पानी सप्लाई नहीं होने से आम लोगों में काफी नाराजगी है. लोगों ने नगर पालिका पर लापरवाही का आरोप भी लगाया है.

आम नागरिकों का कहना है कि नगर पालिका अधिकारी को अपने कर्मचारी से बात करना था. इन लोगों के आपसी विवाद से पूरे शहरवासियों को परेशान होना पड़ रहा है जो ठीक नहीं है. एक तरफ पूरे जिले में टोटल लॉकडाउन है, ऐसे में पीने के पानी लाने हम लोग कहां भागदौड़ करेंगे. वहीं कांग्रेस नेता संजय जायसवाल ने कहा कि नगर पालिका अपने विवाद को अपने स्तर पर जल्द सुलझाए. इस तरह के विवाद के कारण पूरा शहर पानी से वंचित रहे और सब लोग बेवजह परेशान हो, यह उचित नहीं है.

वहीं प्लेसमेंट के तहत नगर पालिका में कार्यरत कर्मी के पुलिस द्वारा पिटाई के बाद ये पूरा मामला सामने आया है. नगर पालिका के कर्मी का आरोप है कि ड्यूटी में जाते समय पड़ाव चौक पर तैनात पुलिस कर्मियों ने उसकी पिटाई की. जबकि उसने अपना पास भी दिखाया था. लेकिन उसके बावजूद उसकी पिटाई की गई है. इसके बाद नाराज सभी नगर पालिका कर्मियों ने काम नहीं करने का फैसला लिया और यही वजह रही कि आज पूरे शहर में वाटर सप्लाई टोटल ठप है. वहीं नगर पालिका में अभी भी कर्मियों को समझाइश दी जा रही है जिससे वाटर सप्लाई फिर सुचारू रूप से शुरू की जा सके.

Related Articles

Close