खेल

कैंसर से जूझ रहे बॉक्सर डिंको सिंह के लिए मसीहा बना स्पाइसजेट, मुफ्त में लाएगा दिल्ली

गुरग्राम 
एशियाई खेलों के गोल्ड मेडलिस्ट बॉक्सर (Asian Games Gold Medallist) डिंको सिंह (Dingko Singh) को स्पाइसजेट की एयर एम्बुलेंस से इम्फाल से दिल्ली लाया जाएगा ताकि उनके लिवर कैंसर का इलाज फिर से शुरू किया जा सके। पद्म पुरस्कार से सम्मानित इस बॉक्सर के लिए एयर एंबुलेंस सेवा निशुल्क प्रदान की जाएगी। बता दें कि कोरोना वायरस के कारण देश भर में जारी लॉकडाउन के कारण डिंको की पूर्व निर्धारित रेडिएशन थेरेपी नहीं हो पाई थी। इम्फाल में रह रहे 41 साल के डिंको की रेडिएशन थेरेपी एक पखवाड़ा पहले होनी थी, लेकिन कोविड-19 (Covid-19) की वजह से जारी लॉकडाउन के कारण वह दिल्ली नहीं आ पाए। इसके बाद भारतीय मुक्केबाजी महासंघ (बीएफआई) ने बयान जारी कर कहा था कि महान बॉक्सर को 25 अप्रैल को यहां लाएगा जिससे कि लिवर के कैंसर का उनका उपचार दोबारा शुरू हो सके। डिंको को दिल्ली के लिए उड़ान भरने का निर्णय स्पाइसजेट (SpiceJet) के अध्यक्ष और प्रबंध निदेशक अजय सिंह ने लिया है। वह बॉक्सिंग फेडरेशन ऑफ इंडिया (BFI) के अध्यक्ष भी हैं। अजय सिंह ने एक बयान में कहा, 'यह वास्तव में दुर्भाग्यपूर्ण था कि डिंको सिंह उपचार लॉकडाउन की वजह से रुक गया था। स्पाइसजेट के लिए हमारे राष्ट्रीय नायक के लिए अपनी एयर एम्बुलेंस सेवा प्रदान करना और उन्हें इलाज के लिए इम्फाल से दिल्ली के लिए उड़ान भरना बहुत ही सौभाग्य की बात है। डिंको ने भारत के लिए कई बड़े मुकाबलों में जीत हासिल की है और हम प्रार्थना करते हैं कि वह लिवर कैंसर के खिलाफ अपनी लड़ाई में विजयी हों। इन कठिन समयों में, हम सभी की जिम्मेदारी है कि हम अपनी सरकार और साथी नागरिकों की हरसंभव सहायता करें। 

विजेंदर और मनोज कुमार ने किया मदद का ऐलान 
दूसरी ओर, बॉक्सर विजेंदर सिंह और मनोज कुमार एशियन गेम्स के पूर्व गोल्ड मेडलिस्ट बॉक्सर डिंको सिंह (Dingko Singh) के लिए धन जुटाने का ऐलान किया है। इन दोनों के अलावा कुछ अन्य बॉक्सर और कोचों ने वॉट्सऐप ग्रुप बनाया है और एक लाख रुपये एकत्र करके सीधे डिंको के खाते में भेजे जाएंगे। विजेंदर ने कहा, ‘हमारा एक वॉट्सऐप ग्रुप है जिसका नाम है ‘हममें है दम।’ मनोज ने इस पर डिंको के बारे में लिखा, 'हमने उनके बैंक खाते की जानकारी ली और अब पैसे इकट्ठे कर रहे हैं।’ इससे पहले खेल मंत्री किरण रिजिजू ने मणिपुर सरकार से आग्रह किया था कि वे इस मुक्केबाज की हालत की जांच करें और उनके उपचार के लिए हर संभव मदद मुहैया कराए। अर्जुन और पद्म पुरस्कार विजेता डिंको लिवर के कैंसर से जूझ रहे हैं। मणिपुर के इस बैंटमवेट मुक्केबाज ने बैंकाक में 1998 एशियाई खेलों में स्वर्ण पदक जीता था।
 

Related Articles

Close