देश

भारत में कोरोना के मामले 10 हजार के पार, लॉकडाउन बढ़ने के आसार

 नई दिल्ली
राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली और महाराष्ट्र में सोमवार को कोविड-19 के मामले तेजी से बढ़े। दिल्ली में 356 नए केस आए जबकि पश्चिमी राज्य में 352, जो एक दिन में सबसे ज्यादा हैं। अगर इन दोनों राज्यों को मिलाकर देखें तो ये भारत में कोरोना के कुल मामलों का 37 फीसदी होता है। इसके साथ ही देश में कोरोना के मामले 10 हजार के आंकड़े को पार कर गए हैं। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी आज सुबह 10 बजे देश को संबोधित करने वाले हैं। माना जा रहा है कि वह लॉकडाउन बढ़ाने का ऐलान कर सकते हैं।
तबलीगी जमात के कारण दिल्ली को काफी नुकसान हुआ। यहां निजामुद्दीन मरकज से जुड़े 79 प्रतिशत मामले सामने आए हैं। सोमवार को कुल 1276 नए मामले सामने आए जो अब तक का एक दिन का सबसे ज्यादा आकंड़ा है। रविवार को 763 केस आए थे और इस तरह से 67% की बढ़ोतरी देखी गई।

देश में कुल 10,450 मामले
कोरोना के कारण सोमवार को 29 और मौतों से कुल संख्या 358 पहुंच गई जबकि देश में इस समय कोरोना के 10,450 मामले हो चुके हैं। महाराष्ट्र में 160 और दिल्ली में 28 मौतें हुई हैं। यूपी में भी रेकॉर्ड केस आए और 112 नए मामलों के साथ ही आकंड़ा 589 पहुंच गया है।
 
महाराष्ट्र में 2300 के पार केस
महाराष्ट्र में सोमवार को कोविड-19 संक्रमण के 352 नए मामले सामने आए जिसके बाद राज्य में कुल संक्रमितों की संख्या 2,334 पहुंच गई और मृतक संख्या 160 हो गई। राज्य के स्वास्थ्य विभाग के अधिकारी के अनुसार पिछले 24 घंटों में संक्रमण से 11 लोगों की मौत हो गई जिसके बाद मृतक संख्या 160 पहुंच गई। कोरोना वायरस के नए मामलों में 242 मरीज मुंबई के हैं, वहीं मुंबई में ही 9 लोगों की मौत दर्ज की गई है।
 
दिल्ली में एक दिन में 356 केस
दिल्ली में सोमवार को कोरोना वायरस के 356 नए मामले सामने आए और चार लोगों की मौत हुई। इसके बाद राष्ट्रीय राजधानी में संक्रमितों की तादाद बढ़कर 1510 हो गई। दिल्ली सरकार के अधिकारियों के मुताबिक, कुल मामलों में से 1071 वे हैं जिन्हें विशेष अभियान के जरिए केंद्रों में लाया गया है। सरकार ने पिछले महीने निजामुद्दीन इलाके में हुए एक धार्मिक कार्यक्रम से संबंधित लोगों को पृथकवास में भेजने के उपाय किए थे।

रविवार रात तक दिल्ली में संक्रमितों की तादाद 1154 थी। इनमें से 24 लोगों की मौत हो गई थी। कोरोना वायरस से चार और मौत हुई हैं, जिसके बाद मृतकों की संख्या 28 हो गई है। अधिकारियों ने बताया कि 30 मरीज इलाज के बाद ठीक हो गए हैं और उन्हें अस्पताल से छुट्टी दे दी गई है, जबकि एक मरीज देश से बाहर चला गया है।

स्वास्थ्य मंत्रालय के अनुसार देश के बाकी हिस्सों से अच्छी खबर यह है कि कोविड-19 से प्रभावित 25 जिलों से पिछले 14 दिनों में कोई मामला सामने नहीं आया है। इस समय भारत के 732 जिलों में से 380 में कोरोना के मामले सामने आए हैं। 857 लोग इस संक्रमण से ठीक भी हो चुके हैं।

उधर, भारतीय आयुर्विज्ञान अनुसंधान परिषद (आईसीएमआर) के वरिष्ठ वैज्ञानिक रमन आर गंगाखेड़कर ने कहा है, 'कोरोना वायरस के संक्रमण की पुष्टि के लिए अब तक 2,06,212 परीक्षण किए जा चुके हैं। इनमें पिछले 24 घंटे के दौरान 156 सरकारी प्रयोगशालाओं में किए गए। 14,855 परीक्षण और निजी क्षेत्र की 69 प्रयोगशालाओं में किए गए 1913 परीक्षण भी शामिल हैं। हमारे पास छह हफ्ते तक परीक्षण करने के लिए उपयुक्त भंडार है।' कोरोना के परीक्षण की त्वरित जांच करने वाली किट की चीन से आपूर्ति के सवाल पर उन्होंने बताया कि जांच किट की पहली खेप चीन से 15 अप्रैल को पहुंचने की संभावना है।
 

Related Articles

Close