छत्तीसगढ़रायपुर

मुंगेली जाने पैदल निकले श्रमिकों को जिला प्रशासन का मिला आश्रय

रायपुर
रैपिड रिस्पांस टीम ने आधी रात को ठेकेदार द्वारा बेघर किए गए पैदल मुंगेली जाने निकले 8 लोगों को लाभांडी स्थित आश्रय स्थल पर पहुंचा कर उनके रहने की व्यवस्था की। मुख्य कार्यपालन अधिकारी डॉ. गौरव कुमार सिंह को ट्रक आॅनर निशांत केंस्वर से मिली सूचना पर उन्होंने इस स्पेशल टीम को भेजकर त्वरित सहायता पहुंचाई।

इस टीम में समाज कल्याण विभाग के उपसंचालक भूपेंद्र पांडेय, एसडीओ पंचायत एवं ग्रामीण विकास विभाग प्रशांत कुमार साहू के साथ आरआरटी की 9 सदस्य टीम मौके पर पहुंची थी। सीईओ डॉ. सिंह को रात 12 बजे दूरभाष पर सूचना मिली कि मुंगेली जिले के 4 पुरुष, 3 महिला 1 छोटे बच्चे के साथ अपने घर मुंगेली जाने पैदल निकले हैं, इनको इनके ठेकेदार ने लॉकडाउन की वजह से कुछ दिन रखकर अपनी व्यवस्था से घर जाने को कहकर निकाल दिया है। सूचना मिलने पर आरआरटी की टीम विधानसभा रास्ते में ब्रिज के पास मौजूद हिंदुस्तान पेट्रोल पंप पहुंची तो वहाँ टीम को रुके हुए मिले। इसके बाद समाज कल्याण विभाग के वाहन से इन्हें आश्रय स्थल ले जाया गया। अब ये लोग लॉकडाउन की स्थिति तक आराम से आश्रय स्थल में रह सकेंगे।

Related Articles

Close