देश

कोरोना मरीज के संपर्क में आने के चलते एम्स में 30 डॉक्टरों, नर्सों को क्वारंटाइन में जाने की सलाह

 नई दिल्ली 
नई दिल्ली स्थित एम्स में न्यूरो की समस्या को लेकर आए 72 वर्षीय एक मरीज के कोरोना पॉजिटिव पाए जाने के बाद यहां के डॉक्टरों, नर्सों और टेक्नीशियन समेत स्वास्थ्य सेवा में लगे 30 कर्मचारियों को क्वारंटाइन में जाने की सलाह दी गई है। समाचार एजेंसी पीटीआई ने बताया कि सूत्रों ने इस बारे में बुधवार को जानकारी दी है।

वह मरीज ने पहले दो दिन पहले ब्रेन स्ट्रोक लक्षण के साथ इमरजेंसी में आया था और उसे फौरन जांच और इलाज के लिए न्यूरोलॉजी वार्ड एन-66 में शिफ्ट किया गया। उसका सीटी स्कैन और एमआरआई किया गया और अन्य मरीजों के साथ उसे रखा गया। उसके बाद उसने सीने और सांस में समस्या बताई, जिसके बाद उसके छाती का भी एक्स-रे किया गया और सांस की नली लगाई गई।

लेकिन, सांस में तकलीफ की समस्या आने पर डॉक्टरों को शक हुआ और उसका सैंपल लेकर टेस्ट के लिए भेजा गया तो वह कोविड-19 का पॉजिटिव निकला। एक अधिकारी के मुताबिक, मरीज को फौरन एम्स के ट्रॉमा सेंटर में भेजा गया, जिसे कोविड-19 मरीजों के लिए बनाया गया है।
 
मरीजों को जिस न्यूरोलॉजी वॉर्ड में भर्ती किया गया था उसे सेनिटाइज किया गया और इमरजेंसी विभाग में लगे डॉक्टरों ने सभी मरीजों से कहा कि वह स्क्रीनिंग कराए ताकि ऐसे केस की पहचान हो सके। मरीज फिलहाल नाजुक हालत में है और डॉक्टरों की तरफ से उसके स्वास्थ्य में करीबी निगाह रखी जा रही है।

अधिकारी ने बताया, डॉक्टरों, नर्सों और टेक्नीशियन समेत स्वास्थ्य सेवा में लगे करीब 30 लोगों से यह कहा गया है कि जो मरीजों के संपर्क में आए हैं वह 14 दिनों के लिए क्वारंटाइन में चले जाएं। पांच दिनों के बाद उनके सैंपल टेस्ट के लिए लिए जाएंगे।। केन्द्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय के मुताबिक, कोरोना के चलते देश में 149 लोगों की मौत हो गई है जबकि कोरोना केस की संख्या बढ़कर 5,194 हो गई है।

Tags

Related Articles

Close