राजनीति

कोरोना: राजनीतिक तल्खी भूल पहुंचा रहे मदद, कहीं विपक्षी बने फेवरेट तो कहीं सरकार पर ही सवाल

नई दिल्ली
कोरोना: राजनीतिक तल्खी भूल पहुंचा रहे मदद, कहीं विपक्षी बने फेवरेट तो कहीं सरकार पर ही सवालकोरोना वायरस के खतरे के बीच जहां देश को पूरी तरह से लॉकडाउन कर दिया गया है, वहीं इस मुश्किल समय में सामाजिक संगठन खुलकर लोगों की मदद के लिए सामने आ रहे हैं। 'पीएम- केयर' से लेकर मुख्यमंत्री राहत कोष तक लोग अपने-अपने स्तर की मदद करने के अलावा निजी स्तर पर भी जरूरतमंदों की मदद कर रहे हैं। इन सबके बीच लोगों की मदद को लेकर राजनीतिक दलों में काम करने वाले लोगों के बीच में तल्खी भी कम होती दिख रही है। दिल्ली हो, बिहार हो या उत्तर प्रदेश हो, राजनीति में धुर विरोधी रहे लोग कोरोना से लड़ाई में एकजुट दिखाई दे रहे हैं, साथ ही वे एक-दूसरे की तारीफ करने से भी नहीं चूक रहे हैं।
 
राजनीतिक तल्खी भूल मदद करने वालों में अगर पहला नाम किसी का आता है तो वह है दिल्ली बीजेपी के प्रवक्ता ताजिंदर पाल सिंह बग्गा का। उन्होंने दिल्ली में रह रहे यूपी बिहार के मजदूरों तक राशन-भोजन पहुंचाने में सोशल मीडिया का इस्तेमाल किया और अपने नेटवर्क का इस्तेमाल करते हुए लोगों तक मदद पहुंचाई। आरजेडी चीफ लालू प्रसाद यादव के बेटे और बिहार में मंत्री रहे तेज प्रताप यादव हों या राष्ट्रीय लोकसमता पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष उपेन्द्र कुशवाहा, बग्गा बिना राजनीतिक विचारधारा देखे एक ट्वीट पर ऐक्टिव हुए और लोगों तक पहुंचाई।

​20-20 घंटे सोशल मीडिया पर ऐक्टिव हैं बग्गा
 एनबीटी ऑनलाइन से बातचीत में ताजिंदर पाल सिंह बग्गा ने बताया कि वह इस समय 20-20 घंटे सोशल मीडिया के सहारे लोगों तक मदद पहुंचा रहे हैं। उन्होंने बताया, 'इस समय देश में ऐसा माहौल है कि हमें राजनीतिक विचारधारा से ऊपर उठकर देश के प्रत्येक नागरिक की चिंता करनी होगी। मैं सिर्फ दिल्ली ही नहीं, हरियाणा, गुजरात समेत कई राज्यों में फंसे लोगों तक बीजेपी या आरएसएस कार्यकर्ताओं के माध्यम से मदद पहुंचा रहा हूं।' बग्गा कहते हैं कि उनकी तेजप्रताप से कभी बात नहीं हुई, लेकिन अच्छा लगा कि उन्होंने भी एक बीजेपी कार्यकर्ता के प्रयास की सराहना की। उन्होंने कहा कि देश की सबसे बड़ी पार्टी, और देश की सत्ताधारी पार्टी का कार्यकर्ता होने के नाते मेरी यह जिम्मेदारी है कि मैं देश के लोगों के बारे में चिंता करूं।

​मदद मिली तो आगे आकर तेज प्रताप ने बोला थैंक्स
 वहीं दूसरी ओर बिहार के पूर्व मंत्री और आरजेडी चीफ लालू प्रसाद यादव के बेटे तेज प्रताप यादव हैं। ताजिंदर पाल सिंह बग्गा ने जब दिल्ली में फंसे बिहारी मजदूरों की समस्या को लेकर किए गए तेज के ट्वीट का संज्ञान लिया और उन तक मदद पहुंचाई तो तेज ने भी आगे बढ़कर सोशल मीडिया पर ही बग्गा को धन्यवाद दे डाला। इसके बाद तो तेज ने एक के बाद एक ट्वीट करके दिल्ली में फंसे मजदूरों के लिए वहां के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल से नहीं, बल्कि बग्गा से मदद मांगी और बग्गा ने मदद पहुंचाई भी। बग्गा के अलावा उनके ट्वीट पर लोगों तक मदद पहुंचाने वाले बीजेपी सांसद सीआर पाटील और छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल को भी धन्यवाद दिया।

​केसीआर का हिंदी में संदेश, खींची बड़ी लकीर
 इस लिस्ट में अगला नाम आता है तेलंगाना के चीफ मिनिस्टर के चंद्रशेखर राव (केसीआर) का। केसीआर ने दूसरे राज्यों आकर तेलंगाना में रहने वाले लोगों के लिए हिंदी में मैसेज जारी करके कहा, 'लोग किसी भी राज्य से हों, हिंदुस्तान के किसी भी कोने से हों, आप लोग हमारे भाई हैं, बंधु हैं, बेटे हैं। आपकी देखभाल करना, खाना खिलाना, पानी पिलाना, आपको राशन सप्लाई करना, आपको कोई दवा की जरूरत है, कोई हेल्थ प्रॉब्लम हो तो उसकी चिंता करना हमारा फर्ज है। आप हमारे राज्य के विकास में योगदान देने आए हैं इसलिए हम आपको अपना भाई समझते हैं।'

उन्होंने कहा, 'किसी चीज की फिक्र ना करिए, तेलंगाना में आराम से रहिए। आप अपने राज्य में जाने के लिए चिंता मत करिए। जब तक भी आप रहेंगे, चाहे कितना भी पैसा खर्च करना पड़े, हम आपको अपने परिवार की तरह देखेंगे। हम आपको अपने घर में रखकर पाल लेंगे।' यह एक अच्छी कोशिश थी, जहां एक मुख्यमंत्री ने साफ तौर पर सामने आकर यह साफ कर दिया कि मुश्किल की इस घरी में राज्य, भाषा, धर्म, जाति, राजनीतिक विचारधारा से ऊपर उठकर लोगों की मदद की जाएगी।

​सीएम योगी ने माया को बोला 'धन्यवाद'
 बीएसपी चीफ मायावती ने कोरोना से लड़ाई के लिए जब अपने विधायकों को विधायक निधि से कम से कम 1-1 करोड़ रुपये देने की अपील की तो सूबे के सीएम योगी आदित्यनाथ ने भी आगे बढ़कर उन्हें धन्यवाद दिया। दरअसल माया ने विधायकों के साथ-साथ जनता से भी सरकार की मदद करने की अपील की थी। जिसके बाद सीएम योगी ने माया को धन्यवाद देते हुए कहा कि सभी को राजनीतिक मतभेदों से ऊपर उठना चाहिए और कोरोना के खिलाफ लड़ाई में एक साथ खड़े होना चाहिए।

Tags

Related Articles

Close