भोपाल

आज जाएंगे बीजेपी के साथ, ज्योतिरादित्य सिंधिया ने छोड़ा कांग्रेस का हाथ

 
भोपाल 

मध्य प्रदेश में सियासी खेल जारी है. ज्योतिरादित्य सिंधिया कांग्रेस का हाथ छोड़ चुके हैं. सिंधिया के कांग्रेस से इस्तीफे के बाद साफ हो गया है कि अब वो भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) का दामन थामेंगे. ज्योतिरादित्य सिंधिया के मंगलवार शाम बीजेपी में शामिल होने की हलचल के बीच खबर आई कि अब बुधवार को बीजेपी में शामिल होंगे. हालांकि, मंगलवार देर शाम खबर यह भी आई थी कि सिंधिया 12-13 मार्च को बीजेपी ज्वॉइन कर सकते हैं.

सूत्रों के हवाले से खबर मिली कि सिंधिया बुधवार दोपहर 12 बजे दिल्ली में बीजेपी में शामिल होंगे. बताया जा रहा है कि सिंधिया दिल्ली से ग्वालियर जाएंगे इसके बाद 12-13 मार्च को भोपाल पहुचेंगे.

बता दें कि ज्योतिरादित्य सिंधिया ने कांग्रेस पार्टी छोड़ी तो मध्य प्रदेश में हड़कंप मच गया है. सिंधिया के इस्तीफे के बाद कांग्रेस के 22 विधायकों ने भी इस्तीफे दे दिए. जिससे कमलनाथ सरकार खतरे में आ गई है. सिंधिया के बगावती तेवर के बाद मध्य प्रदेश की कमलनाथ के नेतृत्व वाली कांग्रेस सरकार गिरने की कगार पर है.
 

गहलोत ने सिंधिया पर साधा निशाना
इस बीच राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने सिंधिया पर लोगों और विचारधारा के साथ विश्वासघात करने का आरोप लगाया. गहलोत ने ट्वीट कर कहा कि ऐसे नेताओं के बारे में क्या कहा जाए, जिन्होंने अपनी राजनीतिक महत्वाकांक्षा के लिए राष्ट्रीय संकट के समय भाजपा से हाथ मिला लिया. खासकर ऐसे समय में, जब भाजपा अर्थव्यवस्था, लोकतांत्रिक संस्थाओं, सामाजिक तानेबाने और न्यायपालिका तक को ध्वस्त कर रही है.

अशोक गहलोत ने ये टिप्पणियां तब की, जब सिंधिया ने कांग्रेस पार्टी से इस्तीफा देने के बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और गृहमंत्री अमित शाह से दिल्ली में मुलाकात की. इससे पहले, सोनिया गांधी को भेजे अपने इस्तीफे में सिंधिया ने लिखा कि वह कांग्रेस के साथ रहकर जनसेवा नहीं कर पा रहे हैं.
 
वहीं कांग्रेस विधायकों के इस्तीफे की मूल प्रति बीजेपी के प्रतिनिधिमंडल ने विधानसभा अध्यक्ष एन.पी. प्रजापति को सौंपी है. बीजेपी के वरिष्ठ नेता और पूर्व गृहमंत्री भूपेंद्र सिंह कांग्रेस के 19 विधायकों के इस्तीफों की मूल प्रतियां विधानसभा अध्यक्ष को सौंपी.

भूपेंद्र सिंह ने बताया कि मंत्री गोविंद सिंह राजपूत, प्रद्युम्न सिंह तोमर, इमरती देवी, तुलसी सिलावट, प्रभुराम चौधरी, महेंद्र सिंह सिसौदिया के अलावा विधायक हरदीप सिंह डंग, जसपाल सिंह जज्जी, राजवर्धन सिंह, ओपीएस भदौरिया, मुन्ना लाल गोयल, रघुराज सिंह कंसाना, कमलेश जाटव, बृजेंद्र सिंह यादव, सुरेश धाकड़, गिरराज दंडौतिया, रक्षा संतराम सिरौनिया, रणवीर जाटव, जसवंत जाटव के इस्तीफे दिए हैं. इन विधायकों के इस्तीफे पर उनके हस्ताक्षर हैं.

Tags

Related Articles

Close