देश

कोरोना का कहर: बेहतर इम्युनिटी कर सकती है कोरोना का खात्मा, अपनाएं ये उपाय

 नई दिल्ली 
अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान के निदेशक डॉ. रणदीप गुलेरिया ने कहा कि कोरोना से घबराने की जरूरत नहीं है। उन्होंने दावा किया कि रोग प्रतिरोधक क्षमता ही कोरोना वायरस को खत्म कर देती है। सावधानी बरतने से इससे बचा जा सकता है।

डॉ. गुलेरिया के अनुसार, कोरोना से मौत का खतरा महज दो से तीन प्रतिशत ही है। इसके मामले अचानक अधिक संख्या में सामने आने के कारण दहशत फैल गई। मगर अब तक कोरोना  के जितने भी मरीज सामने आए हैं, उनमें से 80 प्रतिशत हल्की बीमारी का शिकार हुए और सामान्य दवाओं से ही ठीक हो गए, क्योंकि मरीज की रोग प्रतिरोधक क्षमता ही वायरस को खत्म कर देती है। डॉ. गुलेरिया ने कहा कि चिंता सिर्फ बुजुर्ग मरीजों और कम प्रतिरोधक क्षमता वालों की है।
  
ट्रॉमा सेंटर से एक हजार मास्क  गायब : 
एम्स से एक हजार एन-95 मास्क गायब होने का मामला सामने आया है। बताया गया कि एम्स ट्रॉमा सेंटर स्थित ओटी कॉम्पलैक्स में एक हजार मास्क रखे हुए थे और अब गायब हैं। इन मास्क के चोरी होने की आशंका जताई जा रही है। सोमवार सुबह तक मास्क नं मिलने पर एम्स रेजिडेंट डॉक्टर एसोसिएशन ने हड़ताल की चेतावनी दी है।

सलाह-
होली के त्योहार के मद्देनजर डॉ. गुलेरिया ने लोगों को सलाह दी है कि होली की भीड़ में अगर एक संक्रमित व्यक्ति भी मौजूद हुआ तो इसका संक्रमण वहां मौजूद सभी लोगों हो सकता है। इस वजह से समूह या भीड़ के बजाय अपने परिवार में ही त्योहार मनाएं, जिससे इस वायरस को नियंत्रित करने में मदद मिल सके।

तैयारी-
-एम्स में कोरोना पीड़ित मरीजों के लिए अलग केंद्र बनाए गए हैं 
-बाकी मरीजों को कोराना संक्रमित मरीजों से दूर रखा जाएगा 
-सैंपल परीक्षण के लिए प्रयोगशालाएं काम कर रही  हैं
-स्थिति पर निरंतर निगरानी रखते हुए लगातार इसकी समीक्षा की  जा रही है

ऐसे बढ़ाएं इम्यूनिटी- 
1-संक्रामक रोगों से सुरक्षा के लिए विटामिन सी का सेवन करना बहुत फायदेमंद होता है। नींबू और आंवले में पर्याप्त मात्रा में विटामिन सी पाया जाता है जो रोग प्रतिरोधक क्षमता को दुरुस्त रखने में मददगार होता है।
2-विटामिन डी हमारे लिए बहुत महत्वपूर्ण होता है। इससे कई रोगों से लड़ने की ताकत मिलती है। साथ ही हड्डियों को मजबूत बनाए रखने के लिए और दिल संबंधी बीमारियों को दूर रखने के लिए भी विटामिन डी लेना बहुत जरूरी है।
3-ओट्स में पर्याप्त मात्रा में फाइबर्स पाए जाते हैं। साथ ही इसमें एंटी-माइक्राबियल गुण भी होता है। हर रोज ओट्स का सेवन करने से इम्यून सिस्टम मजबूत बनता है।
4-दही के सेवन से भी इम्यून पावर बढ़ती है। इसके साथ ही यह पाचन तंत्र को भी बेहतर रखने में मददगार होती है।
5-कच्चा लहसुन खाना भी रोग प्रतिरोधक क्षमता को बूस्ट करने में सहायक होता है। इसमें पर्याप्त मात्रा में एलिसिन, जिंक, सल्फर, सेलेनियम और विटामिन ए व ई पाए जाते हैं।
6- आहार में एंटीऑक्सिडेंट की पर्याप्त मात्रा होनी चाहिए। एंटीऑक्सिडेंट बीमार कोशिकाओं को दुरुस्त करते हैं और सेहत बरकरार रखते हुए उम्र के असर को कम करते हैं। बीटा केरोटिन, सेलेनियम, विटामिन-ए, विटामिन-बी2 व बी6, विटामिन-सी, विटामिन-ई, विटामिन-डी रोगप्रतिरोधक क्षमता मजबूत करने के लिए सबसे ज्यादा जरूरी हैं। इन तत्त्वों की भरपाई के लिए गाजर, पालक, चुकंदर, टमाटर, फूलगोभी, खुबानी, जौ, भूरे चावल, शकरकंद, संतरा, पपीता, बादाम, दूध, दही, मशरूम, लौकी के बीज, तिल आदि उपयोगी हैं। हरी सब्जियों-फलों को विशेष रूप से भोजन में शामिल करें।
– सर्दी के मौसम में प्यास कम लगती है, पर याद करके दिन में 8-10 गिलास पानी जरूर पिएं।
– भरपूर नींद लें।
– तनावमुक्त रहने का अभ्यास करें। 
– अगर आप प्राय: बीमारियों की चपेट में रहते हैं तो इसका अर्थ यह भी है कि आपके शरीर में एंटीबॉडीज कम बन रहे हैं। इसके लिए प्रोटीन को समुचित मात्रा में सेवन किया जाना चाहिए।

Related Articles

Close