छत्तीसगढ़रायपुर

सुकमा में डिप्टी कमांडर सहित 4 नक्सलियों ने किया सरेंडर, कई वारदातों में थे

सुकमा
छत्तीसगढ़ (Chhattisgarh) के सुकमा (Sukma) जिले में सीएनएम डिप्टी कमांडर समेत चार नक्सलियों ने पुलिस के सामने आत्मसमर्पण (Naxali Surrender) किया है. मालूम हो कि कई इलाकों में लगातार सुरक्षा बल के जवान ऑपरेशन कर रहे हैं.  इस वजह से नक्सलियों पर दबाव बनता जा रहा है. माना जा रहा है कि शासन की योजनाओं से भी प्रेरित होकर नक्सलियों का संगठन से मोहभंग हो रहा है. ऐसे में तीन महिला समेत चार नक्सलियों ने एसपी के समक्ष आत्मसमर्पण किया है, जिसमें एक सीएनएम डिप्टी कमांडर भी शामिल है.

शनिवार को पुलिस अधीक्षक कार्यालय में तीन महिला समेत चार नक्सलियों ने एसपी शलभ सिन्हा के समक्ष आत्मसमर्पण किया है जिसमें एक सीएनएम की डिप्टी कमांडर वेट्टी हिड़मे शामिल है. ये पिछले चार सालों से नक्सल संगठन से जुडकर काम कर रही थी. पुलिस के मुताबिक सरेंडर करने वाली नक्सली वर्तमान में दलदली पंचायत में सक्रिय रूप से काम कर रही थी. इसके अलावा कारम हिड़मे, कवासी कोसी भी इसी इलाके में काम कर रही थी.

पुलिस से मिली जानकारी के मुताबिक सरेंडर नक्सली गोंसे जोगागादीरास इलाके का रहने वाला है. इसे कांगेर घाटी के सचिव सोमडू ने 2016 में नक्सल संगठन से जोड़ा था. इसके बाद से ये गोंडेरास पंचायत में डॉक्टर के रूप में काम कर रहा था. पुलिस ने इन नक्सलियों पर पेड़ काटना, बैनर पोस्टर लगाना, रोड खोदने साथ ही मुखबिरी करने का आरोप लगाया है. तत्काल एसपी शलभ सिन्हा ने सभी को प्रोत्साहन राशि भी दी.

न्यूज18 से चर्चा करते हुए एसपी शलभ सिन्हा ने बताया कि जैसे-जैसे हमारी फोर्स नक्सल इलाकों में घुस रही है, वैसे नक्सल संगठनों पर दबाव बन रहा है. शासन की पुनर्वास नीति योजना के कारण भी कई नक्सली सरेंडर कर रहे हैं. इन सभी सरेंडर नक्सलियों को शासन की योजना का लाभ दिया जाएगा.

Related Articles

Close