भोपाल

ठंड के बाद अब गर्मी तोड़ेगी कई सारे रिकॉर्ड , ज्यादा चलेगी लू

भोपाल
 इस बार कड़ाके की ठंड झेलने के बाद गर्मी भी कुछ ज्यादा झेलना पड़ेगी। केंद्रीय मौसम विभाग ने इस बार ज्यादा लू चलने और तापमान में एक डिग्री अधिक रहने की संभावना जताई है।

केंद्रीय मौसम विभाग ने मध्यप्रदेश समेत कई राज्यों में खासकर मार्च-अप्रैल और मई में तापमान औसत से ज्यादा रहने के संकेत दिए हैं। मौसम विभाग  के मुताबिक उत्तर-पश्चिम, पश्चिम, मध्य भारत और दक्षिण भारत के कई हिस्सों में सामान्य से अधिक लू चलने की आशंका है।

मौसम विभाग  के अनुसार मार्च से लेकर मई माह तक कोर हीट वेव जोन में सामान्य से अधिक हीटवेव की आशंका है। बाकि स्थानों पर तापमान सामान्य रह सकता है। कोर हीट वेव जोन में ज्यादातर तापमान के अधिक रहने की संभावनाएं लगभग 43 फीसदी है।

0.5 डिग्री सेल्सियस अधिक रहेगा टेंप्रेचरमौसम की भविष्यवाणी करने वाली एजेंसी ने मार्च से मई 2020 के लिए पूर्वानुमान जारी किया है। इसके मुताबिक उत्तर-पश्चिम, पश्चिम और मध्य भारत में 0.5 डिग्री सेल्सियस रहने की संभावना है। शेष उपखंडों में तापमान सामान्य के आसपास रह सकता है।

मध्यप्रदेश भी है कोर हीटवेल जोन में
देश के मध्य भाग में स्थित मध्यप्रदेश भी देश के कोर हीट-वेव जोन में शामिल है। मध्यप्रदेश के अलावा हिमाचल, पंजाब, उत्तराखंड, दिल्ली, हरियाणा, राजस्थान, उत्तर प्रदेश, गुजरात छत्तीसगढ़, बिहार, झारखंड, पश्चिम बंगाल, तेलंगाना, मध्य महाराष्ट्र, मराठवाड़ा, ओडिशा और तटीय आंध्र प्रदेश में अधिकतम तापमान बढ़ने के साथ-साथ लू का भी प्रभाव पिछले साल से इस बार ज्यादा हो सकता है।

46 पार निकल जाएगा तापमान
मौसम विभाग के मुताबिक इस बार भी ग्वालियर-चंबल संभाग में खूब गर्मी पड़ेगी। मई में दिन का तापमान 46 डिग्री तक पहुंच सकता है और इससे ऊपर भी जाने की आशंका है। हीट वेव (लू) और सीवियर हीट वेव (अति लू) का सामना करना पड़ सकता है। इस बार अप्रैल भी लोगों को पसीना-पसीना कर देगी।

सर्दी ने भी तोड़ा था रिकार्ड
इससे पहले दिसंबर में सीवियर कोल्ड वेव, पाला और कोहरे का लोगों ने एक साथ सामना किया था। 30 दिसंबर 2019 को दिन का तापमान 8.3 डिग्री सेल्सियस हो गया था। बताया जा रहा है कि सौ सालों में ऐसा पहली बार हुआ था।

इसके बाद जनवरी में भी बारिश ने रिकार्ड तोड़े। 94 सालों बाद 24 घंटे में 47.2 मिमी बारिश हुई थी। इस सीजन में सबसे अधिक पश्चिमी विक्षोभ भी आए हैं।

भोपाल स्थित मौसम केंद्र ने तीन माह का दृष्टिकोण जारी किया गया है। उसके अनुसार ग्वालियर को मई में सीवियर हीट वेव और हीट वेव का सामना करना पड़ेगा। जबकि मध्यप्रदेश के बाकी हिस्सों में भी सामान्य से 1 -2 डिग्री तापमान ऊपर ही रहेगा। इस बार गर्मी अधिक बढ़ने की संभावना है।

यह है पूर्वानुमान
मार्च में 38 से 40 डिसे
अप्रैल 42 से 44 डिसे
मई 45 से 46 डिसे