छत्तीसगढ़रायपुर

धान खरीदी की मांग पर कवर्धा में अड़े किसान, 5 दिन से हाईवे जाम, थमें 4000 ट्रकों के पहिए

कवर्धा
छत्तीसगढ़ (Chhattisgarh) में धान (Paddy) खरीदी को लेकर सरकार और किसानों के बीच घमासान जारी है. कवर्धा में 20 फरवरी की शाम 4 बजे से शुरू किया गया हाइर्वे पर चक्काजाम 5 दिन बाद भी जारी है. किसान अपनी एक सूत्रीय मांग पर अड़े हुए हैं. किसानों के इस प्रदर्शन के चलते कवर्धा से गुजरने वाले एक नेशनल हाईवे समेत 5 हाईवे पर आवागमन बंद है. इससे करीब 4 ट्रकों के पहिए सड़क पर ही थम गए हैं.

कवर्धा (Kawardha) के किसानों की मांग है कि सरकार ने तय समय सीमा में जिन किसानों को धान बेचने का टोकन जारी किया था, उनके धान खरीदे जाएं. यदि सरकार के पास बारदाने नहीं हैं तो किसान अपना बारदाना भी देने को तैयार हैं. लेकिन अब तक सरकार की ओर से उनकी मांगों पर कोई ठोस निर्णय नहीं लिया गया है. इससे परेशानी बढ़ती जा रही है.

कवर्धा जिले में किसान पांच जगहों पर चक्का जाम करके रखे हैं. विरोध प्रदर्शन कर रहे किसानों से बातचीत के लिए कोई पहल सरकार की ओर से नहीं की गई है. रायपुर-जबलपुर नेशनल हाइवे के अलावा कवर्धा-रायपुर, कवर्धा-बिलासपुर, कवर्धा-राजनांदगांव और कवर्धा-बेमेतरा स्टेट हाई जाम है. परेशान व नाराज किसानों ने बीते सोमवार को मंत्री मो. अकबर के कवर्धा स्थित कार्यालय का घेराव किया था.

किसानों के इस प्रदर्शन को बीजेपी ने समर्थन दिया है. बीजेपी युवा मोर्चा के प्रदेश अध्यक्ष विजय शर्मा किसानों के एक गुट के साथ प्रदर्शन स्थल पर ही मौजूद हैं. मंत्री के कार्यालय के घेराव के दौरान भी वे किसानों के साथ ही थे. इसके अलावा पूर्व सीएम डॉ. रमन सिंह ने भी किसानों के प्रदर्शन को समर्थन दिया है. वे धरना स्थल पर भी पहुंच सकते हैं.

Related Articles

Close