देश

कानपुर के बड़े चौराहे पर गोलीबारी से मची भगदड़, चार लोग घायल

 कानपुर                                                                                                                                                                
बड़ा चौराहा पर रविवार रात करीब 9:30 बजे बदमाशों ने चौकी के सामने ताबड़तोड़ फायरिंग कर पुलिस को चुनौती दी। सबसे व्यस्त चौराहे पर गोलियों की तड़तड़ाहट से भगदड़ मच गई। व्यापारी और उसके साथी को निशाना बनाने आए बदमाशों की फायरिंग में दो राहगीरों को भी छर्रे लग गए। आनन-फानन पुलिस सभी को उर्सला अस्पताल ले गई जहां से दो घायलों को हैलट रेफर कर दिया गया। घटना के पीछे मामूली विवाद बताया जा रहा है।

बंगाली मोहाल निवासी लकी तिवारी की शिवाला में आर्टीफीशियल ज्वैलरी की दुकान है। उसकी दुकान में काम करने वाले शिवम गुप्ता की 13 फरवरी को शादी थी। रविवार रात शिवम के ग्वालटोली स्थित घर पर दोस्तों की पार्टी थी। इसमें लकी अपने साथी शुभम द्विवेदी उर्फ छोटू पंडित के साथ गया था।यहां किसी बात को लेकर तिवारी घाट निवासी नीरज करिया से उसकी कहासुनी हो गई। बात बिगड़ने पर लोगों ने मामला शांत करा दिया। इसके बाद लकी और छोटू चले गए। शिवम ने फोन कर समझौते के लिए इन्हें बड़ा चौराहा बुलाया। आरोप है कि जेड स्क्वॉयर पुलिस चौकी के सामने बाइक से लकी और छोटू के पहुंचते ही नीरज के साथ खड़े 8 लोगों ने ताबड़तोड़ फायर झोंकने शुरू कर दिए। गोली लगने से लकी व छोटू गिर पड़े। 

घायलों के परिजनों ने नीरज उर्फ करिया के साथ राहुल सिंह, शिवम गुप्ता, रामजी तिवारी समेत अन्य के खिलाफ हत्या के प्रयास की तहरीर दी है। मुकदमा दर्ज कर आरोपितों की गिरफ्तारी के लिए दबिश दी जा रही है। -राजकुमार अग्रवाल, एसपी पूर्वी

सीसीटीवी फुटेज से पहचान करने की कोशिश
बड़ा चौराहा पर इंटीग्रेटेड ट्रैफिक मैनेजमेंट सिस्टम के कैमरे लगे हुए हैं। कोतवाली पुलिस की एक टीम हमले के बाद आईटीएमएस के कंट्रोलरूम पहुंची और वारदात में शामिल आरोपितों की पहचान का प्रयास करती रही। देर रात तक टीम फुटेज की जांच में लगी रही। माना जा रहा है कि वारदात में आईटीएमएस का सीसीटीवी फुटेज आरोपितों को पहचानने में अहम भूमिका निभाएगा। 

Related Articles

Close