खेल

चोट के बाद आए खिलाड़ी को आत्मविश्वास देना चाहिए न कि नकारात्मकता: शमी

हैमिल्टन
न्यूजीलैंड के खिलाफ वनडे इंटरनैशनल सीरीज में जसप्रीत बुमराह कोई विकेट नहीं ले पाए। इसके बाद सवाल उठने लगे कि क्या चोट से वापस करने के बाद बुमराह की लय कहीं खो गई है। हालांकि टीम इंडिया के उनके साथी गेंदबाज मोहम्मद शमी इस बात से इत्तेफाक नहीं रखते। शमी ने कहा, ' सिर्फ एक-दो मैचों में अलग प्रदर्शन के बाद लोग जसप्रीत बुमराह के कई अनगित मैच-जिताऊ खेल को कैसे भूल सकते हैं।'
बुमराह ने न्यूजीलैंड के खिलाफ तीन वनडे इंटरनैशनल मैचों की सीरीज में कोई विकेट हासिल नहीं किया। इसके बाद कई लोग उनके खेल पर कुछ सवाल उठाने लगे थे।

न्यूजीलैंड इलेवन के खिलाफ प्रैक्टिस मैच के दूसरे दिन के खेल के बाद शमी ने कहा, 'मैं समझ सकता अगर लोग कुछ अरसा गुजर जाने के बाद लोग इस पर चर्चा करते लेकिन 2-4 मैच बाद नहीं। सिर्फ इसलिए कि उन्होंने दो मैचों में अच्छा प्रदर्शन नहीं किया, आप मैच जिताने की उनकी काबिलियत पर सवाल नहीं कर सकते।'

उन्होंने कहा, 'बुमराह ने जो भारत के लिए हासिल किया है आप उसे कैसे नजरअंदाज सकते हैं? तो अगर आप सकारात्मक होकर सोचते हैं तो यह आपके और खिलाड़ी के आत्मविश्वास के लिए भी अच्छा होता है।' शमी ने सिर्फ कॉमेंट करने वाले लोगों पर भी निशाना साधा। उन्होंने कहा कि लोग भूल रहे हैं कि बुमराह स्ट्रेस फ्रैक्चर से लौट रहे हैं।

उन्होंने कहा, 'एक खिलाड़ी होने के नाते, यह काफी अलग है। बाहर से कॉमेंट करना काफी आसान है। कुछ लोगों का काम ही होता है टिप्पणी करना। एक खिलाड़ी होने के नाते आप चोटिल होते हैं और ऐसे में आपको सकारात्मक होकर देखना चाहिए न सिर्फ नकारात्मक चीजों पर ही टिप्पणी करनी चाहिए। मैं भी 2015 में चोटिल हुआ था (घुटने की चोट) लेकिन मैंने वापसी की।'

Related Articles

Close