छत्तीसगढ़रायपुर

बीजापुर मुठभेड़ में शहीद हुए जवानों को श्रद्धांजलि, रायपुर IG ने कंधा देकर दी अंतिम विदाई

रायपुर
छत्तीसगढ़ (Chhattisgarh) के बीजापुर (Bijapur) जिले के पामेड़ इलाके में हुए पुलिस नक्सली मुठभेड़ (Police Naxalite Encounter) में शहीद हुए 2 जवानों को मंगलवार सुबह माना स्थित चौथी बटालियन के मैदान में श्रद्धांजलि (Tribute) दी गई. इस दौरान डीजीपी डीएम अवस्थी, रायपुर आईजी आनंद छाबड़ा समेत सीआरपीएफ (CRPF) के अधिकारियों ने शहीद जवान पूनानंद साहू और विकास कुमार को सलामी दी. अंतिम सलामी के बाद आईजी रायपुर ने जवानों को कंधा देकर श्रद्धांजलि दी. आपको बता दें कि बीजापुर (Bijapur) के पामेड़ इलाके के इरापल्ली में घात लगाए नक्सलियों के हमले में सीआरपीएफ के कोबरा बटालियन के दो जवान शहीद हो गए. वहीं डिप्टी कमांडेंट प्रशांत कुमार समेत 5 जवान घायल हैं जिनका इलाज रायपुर में चल रहा है. वहीं शहीद जवानों के पार्थिव शरीर को श्रद्धांजलि  के बाद उनके गृहग्राम रवाना कर दिया गया है.

मालूम हो कि सोमवार को बीजापुर जिले में सुरक्षाबल के जवानों और नक्सलियों के बीच मुठभेड़ हुई थी. पामेड़ (Pamed) थाना क्षेत्र के जंगलों में सर्चिंग पर निकले सुरक्षाबल के जवानों का सामना नक्सलियों से हुआ था. अचानक नक्सलियों ने जवानों पर फायरिंग शुरु कर दी थी. इसके बाद जवाबी कार्रवाई जवानों की ओर से की गई. इस मुठभेड़ में सीआरपीएफ के कोबरा बटालियन के दो जवान शहीद हो गए. वहीं मुठभेड़ में पांच जवान घायल हो गए हैं.

बता दें कि सोमवार को ही बीजापुर में नक्सल हिंसा के खिलाफ पुलिस को सफलता भी मिली थी. एसपी दिव्यांग पटेल ने बताया कि सात नक्सलियों ने सरेंडर किया है. सरेंडर करने वालों में अमित लेकाम उर्फ शिवाजी, मिरतुर एलओएस डिप्टी कमांडर पद पर लंबे समय था. इसपर तीन लाख रुपये का इनाम घोषित था. इसके अलावा छह अन्य नक्सलियों ने भी सरेंडर किया है. इसके अलावा पामेड़ एरिया के एलजीएस कमांडर मड़कम शंकर उर्फ हिरमा, एलओएस डिप्टी कमांडर पोयाम मोटू ने भी सरेंडर किया है. इनपर भी 3—3 लाख रुपये का इनाम घोषित था.

Related Articles

Close