देश

 ग्राहक का चिल्लर जमा करने में बैंक को लगे तीन दिन

 अमेठी
                                                                                                                            
इलाहबाद बैंक की मुसाफिरखाना स्थानीय शाखा में किसान ऋण मुक्ति योजना का लाभ लेने के लिए तीन लाख के चिल्लर लेकर पहुंचे किसान का पैसा जमा करने के लिए बैंक को पैसा गिनने में तीन का समय लगा। इसके लिए बैंक को तीन कर्मियों को लगाना पड़ा।

बता दें कि क्षेत्र के अढ़नपुर गांव के पवन कुमार सिंह ने इलाहाबाद बैंक से केसीसी पर लोन ले रखा था। ऋण अदायगी न कर पाने के कारण बैंक ने ग्राहक को किसान ऋण मुक्ति योजना का लाभ दिया। योजना के तहत पवन को ऋण का आधा पैसा जमा करना था शेष आधा पैसा बैंक को स्वयं वहन करना था। योजना का लाभ लेने के लिए पवन जब बीते मंगलवार को 14 बोरियों में चिल्लर भरकर बैंक पहुंचा तो बैंक के सामने इन चिल्लरों को गिनने की चुनौती उठ खड़ी हुई।

शाखा प्रबंधक स्वप्निल श्रीवास्तव ने बताया कि ग्राहक को योजना का लाभ देने के लिए बैंक द्वारा तीन कर्मियों को लगाकर चिल्लर को गिनने का निर्णय लिया गया। एक, दो, पांच और दस के सिक्कों को गिनने के लिए लगातार तीन दिनों तक कर्मियों को काम करना पड़ा। जिसके बाद शुक्रवार को चिल्लरों की गिनाई का काम पूर्ण कर पैसों को ऋणी के लोन अकाउंट में जमा कर लिया गया।

Related Articles

Close