इंदौर

मकर संक्रांति पर ऐसे मिले दिग्विजय सिंह और कैलाश विजयवर्गीय

इंदौर
 राजनीति में एक दूसरे के कट्टर विरोधी नेता जब गले मिलते हैं तो तस्वीरें यादगार बन जाती है| मकर सक्रांति पर सियासत का एक अलग अंदाज इंदौर में देखने को मिला जब कांग्रेस के दिग्गज नेता व पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह और बीजेपी के राष्ट्रीय महासचिव कैलाश विजयवर्गीय साथ साथ नजर आये| दोनों एक दूसरे गर्मजोशी के साथ मिले और हंसी ठिठोली के बीच गले मिले और एक दूसरे को मालवी टोपी पहनाकर अभिवादन भी किया।

दरअसल, अक्सर ये दोनों ही नेता बड़े मुद्दों पर एक दूसरे के खिलाफ भले ही तीखे तेवर अपनाकर राजनीति को गर्माते हो लेकिन असल मे दोनों में खास रिश्ता है और वो है दोस्ती का। भले ही राजनीतिक गलियारों में दिग्गी और विजयवर्गीय एक दूसरे के धुर विरोधी हो लेकिन इनकी दोस्ती भी गहरी है और इस बात पर आज उस वक्त मुहर लग गई जब इंदौर में एक दूसरे को गले मिलकर संक्रांति की शुभकामनाएं तो दी ही और साथ ही ठहाके भी लगाए। इस नजारे को देखकर ना बीजेपी कार्यकर्ता बल्कि कांग्रेसी कार्यकर्ता भी चौंक गए है। ये नजारा इंदौर के पलासिया स्थित आदर्श रोड  का नजारा है जहां राजनीतिक मतभेद भुलाकर कांग्रेस के वरिष्ठ नेता दिग्विजय सिंह और भाजपा के राष्ट्रीय महासचिव कैलाश विजयवर्गीय गले मिले। मकर संक्रांति के पर्व पर दोनों ही वरिष्ठ नेताओं ने एक दूसरे को मालवी टोपी पहनाकर अभिवादन भी किया।

बता दे कि पूर्व सीएम और कांग्रेस के दिग्गज नेता दिग्विजय सिंह बीजेपी के राष्ट्रीय महासचिव कैलाश विजयवर्गीय के राजनीतिक गुरु माने जाते है। आज जब दिल्ली का 10 सदस्य संसदीय दल इंदौर की स्मार्ट सड़क का निरीक्षण करने पहुंचा तो सभी ने इंदौर की स्मार्ट सड़क की तारीफ की वही संसदीय में शामिल शहरी विकास मंत्रालय की स्टेंडिंग कमेटी की और वरिष्ठ सांसद जगदंबिका पाल ने कहा ये स्मार्ट सड़क अब देशभर के लिए मॉडल होगी। हालांकि इस दौरान कई बड़े नेता मौजूद थे लेकिन आदर्श सड़क के  साथ ही आदर्श दोस्ती की चर्चा बनी रही। हाल ही में कई कांग्रेसी नेताओं ने विजयवर्गीय के खिलाफ कार्रवाई के मामले मे जमकर बयानबाजी की थी लेकिन आज की तस्वीरे कुछ ओर ही बयां कर रही है| लिहाजा, कांग्रेस नेताओं के बयान और आज की ताजा तस्वीर आने वाले दिनों में प्रदेश की राजनीति में सियासी हलचल पैदा करने के लिए काफी है।

 

Tags

Related Articles

Close