देश

एनपीआर पर चिदंबरम और अमित मालवीय के बीच छिड़ा ट्विटर वॉर

 नई दिल्ली 
भारतीय जनता पार्टी ने पी. चिदंबरम के गृह मंत्री रहते हुए एक वीडियो जारी किया है, जिसमें नेशनल पॉपुलेशन रजिस्टर (एनपीआर) पर कांग्रेस की तरफ से कही गई बातों को दिखाया गया है। साल 2008 के 26/11 मुंबई आतंकी हमले के बाद गृहमंत्री बने चिदंबरम ने कांग्रेस की अगुवाई वाली यूपीए सरकार में लोगों का नेशनल डेटाबेस बनाने का प्रयास किया था। साल 2010 में जणनगणना करनेवालों से पहले दौरा का डेटा भी इकट्ठा किया गया था।

ट्वीटर पर बीजेपी के अमित मालवीय की तरफ से शेयर किए गए वीडियो में तत्कालीन गृहमंत्री पी. चिदंबरम एनपीआर पर बातचीत करते हुए दिख रहे हैं। इस वीडियो में चिदंबरम यह कहते हुए सुनाई दे रहे हैं- “मानवीय इतिहास में ऐसा पहली बार है जब हम शुरुआत करने जा रहे हैं पहचान, गणना, विश्लेषण, रिकॉर्ड और अंत में 120 करोड़ जनता को पहचान पत्र जारी करेंगे। इस तरह की कोशिश दुनिया में कहीं भी नहीं की गई है।”

कांग्रेस के वरिष्ठ नेता इस वीडियो के करीब 20 घंटे बाद अपनी प्रतिक्रिया जाहिर करते हुए यह कहा कि उनके बयान में “कहीं भी एनआरसी का जिक्र नहीं किया गया है।” जवाबी हमले कर चिदंबरम ने इस बात पर भी जोर दिया कि बीजेपी की अगुवाई वाली राष्ट्रीय गठबंधन का बड़ा घातक एजेंडा है जिसमें एपीआर 2020 बनाया गया है और ये 2010 के एनपीआर की तुलना में बहुत खतरनाक और अलग है।

Tags

Related Articles

Close