खेल

रणजी ट्रोफी खेलेंगे जसप्रीत बुमराह, लेकिन एक दिन में 12 ओवर से अधिक नहीं करेंगे बोलिंग

 
नई दिल्ली

वनडे क्रिकेट में दुनिया के नंबर वन बोलर जसप्रीत बुमराह चार महीने के बाद फिर से टीम इंडिया की बोलिंग का आगाज करने को तैयार हैं। वह अगले साल के पहले हफ्ते में शुरू हो रही श्रीलंका के खिलाफ टी20 सीरीज से ऐक्शन में नजर आएंगे। बुमराह पिछले सितंबर में स्ट्रेस फ्रैक्चर के शिकार हुए थे और इस वजह से साउथ अफ्रीका, बांग्लादेश और वेस्ट इंडीज के खिलाफ घरेलू सीरीज में नहीं खेल सके। इससे पहले वह रणजी ट्रोफी का मैच खेलेंगे, लेकिन एक दिन में 12 ओवर से अधिक बोलिंग नहीं करेंगे।

रणजी मैच खेलेंगे
बुमराह अपनी इंजरी के इलाज के बाद से वापसी के लिए लगातार कोशिश कर रहे थे। इस बीच उन्होंने वेस्ट इंडीज के खिलाफ सीरीज के दौरान विशाखापत्तनम में टीम इंडिया के नेट्स में बोलिंग भी की। इससे पहले कि वह टीम इंडिया में वापसी करें उन्हें अपनी लय हासिल करने के लिए रणजी ट्रोफी का मैच खेलने को कहा गया है। वह सूरत में केरल के खिलाफ गुजरात के अगले रणजी मैच में खेलेंगे।
 
12 ओवर से अधिक नहीं करेंगे गेंदबाजी
इसके लिए टीम के फिजियो नितिन पटेल की स्वीकृति मिल गई है। चीफ सिलेक्टर एमएसके प्रसाद खुद सूरत जा रहे हैं जहां वह बुमराह की वापसी पर नजर रखेंगे। सिलेक्टरों ने बुमराह के संदर्भ में गुजरात के कप्तान पार्थव पटेल को एक अहम सुझाव दिया है। पटेल से कहा गया है कि बुमहरा खेलेंगे, लेकिन दिन में 12 ओवर से अधिक नहीं करेंगे।
 
कोलकाता नाइट राइडर्स
टीम ने सबसे महंगे रहे पैट कमिंस को अपनी टीम से जोड़ा है। 40 पार कर चुके प्रवीण तांबे भी टीम में शामिल हुए हैं।

क्यों दी ऐसी सलाह
इस बारे में फास्ट बोलर पर नजर रखने वाले सूत्र ने बताया कि भारत को अगले वर्ष 21 फरवरी से पहले कोई टेस्ट मैच नहीं खेलना है। ऐसे में लाल बोल वाली क्रिकेट के लिए उन्हें लेकर कोई जल्दी नहीं है, लेकिन आगामी सीरीज से पहले कोई मैच नहीं है, इसलिए हमने सलाह दी है कि उनसे अधिक गेंदबाजी नहीं कराई जाए।