राजनीति

बीजेपी की महिला सांसदों समेत कई नेताओं ने राहुल गांधी का जमकर विरोध किया और माफी की मांग की

नई दिल्ली
लोकसभा के शीत सत्र के आखिरी दिन राहुल गांधी के 'रेप इन इंडिया' पर जमकर हंगामा हुआ। बीजेपी की महिला सांसदों समेत कई नेताओं ने राहुल गांधी का जमकर विरोध किया और माफी की मांग की। राहुल गांधी ने गुरुवार को झारखंड के विधानसभा चुनाव में मेक इन इंडिया को लेकर तुकबंदी करते हुए 'रेप इन इंडिया' की बात कही थी। उनके इस बयान पर विरोध का मोर्चा केंद्रीय मंत्री स्मृति इरानी और रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने संभाला।

एक तरफ स्मृति इरानी ने कहा कि गांधी खानदान के शख्स का बयान शर्मनाक है तो राजनाथ सिंह ने कहा कि राहुल गांधी को सांसद रहने का हक नहीं है। राजनाथ सिंह ने आक्रामक तेवर दिखाते हुए कहा कि ऐसी भाषा का इस्तेमाल करने वाले सदस्य को सांसद बने रहने का अधिकार नहीं है। डिफेंस मिनिस्टर ने कहा, 'सारा देश यह जानता है कि पीएम नरेंद्र मोदी मेक इन इंडिया कार्यक्रम पर बल दे रहे हैं ताकि भारत अब इंपोर्टर देश से एक्सपोर्टर के तौर पर तब्दील हो सके। इसलिए भी यह योजना आगे बढ़ाई जा रही है ताकि देश के नौजवानों को रोजगार हासिल हो सके। लेकिन कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष ने इन शब्दों के साथ जो तुकबंदी की है, वह आहत करने वाली है।'

उन्होंने कहा कि क्या इस सदन में ऐसे लोग भी चुन कर आ सकते हैं, जो ऐसे भी शब्दों का प्रयोग करते हैं। मैं यह कहना चाहता हूं कि हमारी पार्टी के भी कुछ लोगों ने अपशब्दों का प्रयोग किया था तो हमने उन्हें उनको बुलाकर उन्हें खेद व्यक्त कराया है। कांग्रेस के इतने सीनियर लीडर की ओऱ से ऐसा किया जा रहा है तो क्यों नहीं उन्हें सदन में आना चाहिए और सारे देश से माफी मांगनी चाहिए।

स्मृति का हमला, गांधी परिवार के बेटे ने किया रेप का आह्वान
स्मृति बोलीं, 'आज देश की महिलाओं के सम्मान की बात है। रेप जैसे संगीन अपराध में इस सदन के सदस्य, गांधी परिवार के बेटे ने खुले आम रेप का आह्वान किया। उन्होंने कहा है कि रेप इन इंडिया, क्या वह देश के पुरुषों का महिलाओं को रेप करने के लिए आह्वान कर रहे हैं?' अमेठी से सांसद स्मृति ने राहुल को दंडित करने की मांग भी स्पीकर से की।

भारत का अपमान है राहुल गांधी का बयान
बीजेपी की सांसद लॉकेट चटर्जी ने कहा कि पीएम नरेंद्र मोदी मेक इन इंडिया की बात करते हैं और राहुल गांधी ने रेप इन इंडिया की बात कही। उनका कहना है कि आओ और हमारे यहां की महिलाओं का रेप करो। यह भारत की महिलाओं और भारत माता का अपमान है।

Related Articles

Close