भोपाल

प्रदेश में सरकार ने अगर एनआरसी लागू किया तो विधानसा सदस्य नहीं रहूंगा:आरीफ मसूद

भोपाल
 देश भर में नागरिकता संशोधन बिल 2019 के पास होने के बाद से हालात खराब होते जा रहे हैं। उत्तर पूर्वी राज्यों असम में कर्फ्यू लगा दिया गया है, इंटरनेट सेवाएं ठप हैं। पुलिस और प्रदर्शनकर्ताओं के बीच हुई झड़प में तीन लोगों के मारे जाने की भी खबर है। मध्य प्रदेश में भी इसका भारी विरोध हो रहा है। राजधानी भोपाल में गुरूवार को लगातार प्रदर्शन हुए। कांग्रेस विधायक आरिफ मसूद के नेतृत्व में भी विरोध प्रदर्शन किया गया। इस दौरान हज़ारों की संख्या में लोग बुधवारे में जमा हुए और सरकार के इस बिल का विरोध किया।

उन्होंने इस कानूने के खिलाफ भोपाल की जनता से अपील करते हुए कहा कि लोग गांधी जी के बताए रास्ते पर चलते हुए अंहिसाक विरोध प्रदर्शन करें। उन्होंने बड़ा ऐलान करते हुए कहा कि अगर मध्य प्रदेश सरकार प्रदेश में एनआरसी लागू करती है तो वह विधानसा से सदस्य नहीं रहेंगे।  इस सभा को सामाजिक संगठनों एवं राजनैतिक दलों के नेता संबोधित किया  और एन.आर.सी. का विरोध किया ।

आमसभा को संबोधित करने वालों में राष्ट्रीय सेक्यूलर मंच के संयोजक और वरिष्ठतम पत्रकार, बुद्धिजीवी लज्जा शंकर हरदेनिया, सी.पी.एम. नेता और लोक जनमत समाचार के प्रधान संपादक बादल सरोज, भारत ज्ञान विज्ञान समिति की अध्यक्ष आशा मिश्रा, म.प्र.लोकतांत्रिक अधिकार मंच के संयोजक विजय कुमार सीपी शेलेन्द्र कुमार शेली, सामाजिक कार्यकर्ता माधुरी जी आदि मौजूद रहे।

Tags

Related Articles

Close