देश

निर्भया की मां ने उम्मीद जताई कि दोषियों के खिलाफ 18 दिसंबर को हो डेथ वॉरंट जारी

 

नई दिल्ली
गैंगरेप और हत्या का शिकार हुई निर्भया के पिता ने अदालती कार्रवाई से संतुष्टि जताते कहा कि दरिंदगी के दोषी मौत से कुछ कदम ही दूर हैं। 16 दिसंबर, 2012 की रात जघन्य वारदात का शिकार हुई निर्भया के पिता ने शुक्रवार को कहा, 'दोषी फांसी के फंदे से कुछ कदम ही दूर हैं। उम्मीद है कि जल्दी ही डेथ वॉरंट जारी हो जाएगा।'

निर्भया के पिता बदरीनाथ ने कहा, 'मुझे संतुष्टि है कि अदालत की ओर से प्रक्रिया को तेजी से आगे बढ़ाया जा रहा है। दोषी अब मौत से दूर नहीं हैं।' उन्होंने कहा कि एक दोषी अक्षय ठाकुर ने सुप्रीम कोर्ट में रिव्यू पिटिशन इसलिए दाखिल की है ताकि फांसी की सजा को कुछ दिनों के लिए टाला जा सके। उसकी याचिका पर 17 दिसंबर को सुनवाई होनी है।

मां बोलीं, दिसंबर में ही हो दरिंदों को फांसी
उन्होंने कहा कि हमारी ओर से उठाया गया हर कदम देश की महिलाओं की सुरक्षा के लिए है। निर्भया की मां आशा देवी ने भी कहा कि वह 7 साल से न्याय का इंतजार कर रही हैं और एक सप्ताह और कर सकती हैं। उन्होंने उम्मीद जताई कि दोषियों के खिलाफ 18 दिसंबर को डेथ वॉरंट जारी होगा। हम चाहते हैं कि उन्हें इसी महीने में फांसी दी जाए। आशा देवी ने कहा कि मैंने अपनी बेटी को दिसंबर में खोया था और उन्हें भी इसी महीने में सजा होनी चाहिए।

रिव्यू पिटिशन के खिलाफ SC पहुंचे निर्भया के परिजन
इससे पहले निर्भया की मां ने दरिंदगी करने वालों में से एक दोषी के सुप्रीम कोर्ट में रिव्यू पिटिशन के खिलाफ याचिका दाखिल की। फांसी की सजा पाए चार आरोपियों में से एक अक्षय ठाकुर ने सुप्रीम कोर्ट में रिव्यू पिटिशन दायर की है। इसके खिलाफ निर्भया की मां ने भी सुप्रीम कोर्ट का रुख किया है। अक्षय ठाकुर की अर्जी पर शीर्ष अदालत ने 17 दिसंबर को सुनवाई का फैसला लिया है।

Related Articles

Close