छत्तीसगढ़बिलासपुर

पैसों की लालच में वकील ने बनाया रिटायर्ड टीआई के घर चोरी का प्लान, ऐसे हुआ मामले का खुलासा

बिलासपुर
छत्तीसगढ़ के बिलासपुर जिले में चोरी के एक मामले का खुलासा पुलिस ने कर दिया है. मोटी रकम की लालच में रिटायर्ड टीआई के घर चोरी की साजिश रचने वाले वकील समेत 3 लोगों को पुलिस ने गिरफ्तार किया है. पकड़े गए आरोपियों से नगदी सहित लगभग डेढ़ लाख रुपए की ज्वेलरी और मोबाइल भी जब्त किया है. वारदात को अंजाम देने के बाद पुलिस ने सीसीटीवी फुटेज की जांच की. इसी फुटेज से पुलिस आरोप तक पहुंची. पूछताछ में आरोपी ने अपना जुर्म भी कबूल कर लिया. फिलहाल मामले में शामिल एक और आरोपी अभी फरार है. पुलिस आरोपी की तलाश कर रही है.

दरअसल बीते दिनों थाना सकरी अंतर्गत आसमां कॉलोनी में रहने वाले रिटायर्ड टीआई एससी शुक्ला के घर अज्ञात चोरों द्वारा मकान का ताला तोड़कर घर में रखे सोने-चांदी के जेवर समेत नगदी पार कर दिया था. घटना के बाद से लगातार पुलिस द्वारा सीसीटीवी फुटेज की जांच की जा रही थी. सीसीटीवी फुटेज की मदद से पुलिस ने टिकरापारा निवासी राजेश को पकड़कर पूछताछ किया. पूछताछ में राजेश ने अपना जुर्म स्वीकार करते हुए अन्य साथियों के साथ मिलकर वारदात को अंजाम देना बताया.

हैरानी तो इस बात की है कि एक वकील ने ही पूर्व पुलिस अधिकारी के घर चोरी की कहानी लिखी, और इसमें कई शातिर चोरों को अपना साथी बनाया. घटना 21 नवंबर की है जहां आसमा सिटी में रहने वाले रिटायर्ड थाना प्रभारी एससी शुक्ला अपने पारिवारिक कार्य से दिल्ली गए हुए थे. घर सूना पाकर आसमा सिटी में ही रहने वाले पेशे से अधिवक्ता सतीश सिंह ठाकुर ने चोरी की वारदात को अंजाम देने योजना बनाई. रिटायर्ड पुलिस अधिकारी के घर मोटा माल होने की उम्मीद में उसने कुछ शातिर चोरों को अपने साथ मिलाया और एससी शुक्ला के घर की घटना को अंजाम दिया. चोरों ने रिटायर्ड अधिकारी करीब साढ़े तीन लाख रुपए की चोरी की थी.  इस मामले में पुलिस ने मास्टरमाइंड वकील सतीश सिंह के साथ राजेश पासी और केशव यादव को गिरफ्तार कर लिया है. लेकिन इस मामले का एक और आरोपी दयालबंद निवासी संजय खरे अभी भी फरार ह
ै.

Related Articles

Close