जबलपुर

स्कूली बच्चों ने लगाए ऐसे नारे कि विधायक पहुंच गए उनके पास…

जबलपुर
बरगी विधायक संजय यादव (sanjay yadav) उस समय भौंचक रह गए जब कुछ छोटे-छोटे बच्चों ने उन्हें देखकर नारे लगाने शुरू कर दिए. विधायक कोहला गांव के दौरे पर निकले थे. बच्चे नारे लगा रहे थे-टीचर दो-टीचर (teacher) दो. पूछने पर पता चला कि इस गांव में 3 महीने से स्कूल (school) में कोई शिक्षक नहीं है. ये वही गांव है जिसे बीजेपी सांसद राकेश सिंह (rakesh singh) ने गोद ले रखा है और बीजेपी सरकार ने इसे आदर्श गांव का तमगा दिया था.

बरगी विधायक संजय यादव चरगवां तहसील के कोहला गांव में विकास कार्यों का निरीक्षण करने गए थे. वो यहां के सरकारी प्राथमिक स्कूल के सामने से गुजर रहे थे तभी छात्र कक्षा से बाहर निकल आए और नारे लगाने लगे. नन्हें-मुन्नों की नारेबाज़ी सुनकर विधायक संजय यादव उनके पास पहुंच गए. बच्चे इस स्कूल में टीचर नियुक्त करने की मांग कर रहे थे.उन्होंने बच्चों से बात की तो पता चला स्कूल में एक भी टीचर नहीं है. यह सुनकर विधायक भी हैरान रह गए और उन्होंने तत्काल इसकी जानकारी शिक्षा अधिकारियों से मांगी और हर हाल में एक शिक्षक इस स्कूल में भेजने के लिए कहा.

कोहला गांव के इस प्राइमरी सरकारी स्कूल में 50 बच्चे पढ़ते हैं. स्कूल में एकमात्र शिक्षक था. पिछले दिनों प्रदेश में हुए थोक तबादलों के दौरान उसका भी तबादला कर दिया गया. उनके बदले जिस शिक्षक का ट्रांसफर किया गया है वो यहां आने के लिए तैयार नहीं हैं.

यह वही कोहला गांव है जिसे जबलपुर सांसद और प्रदेश बीजेपी अध्यक्ष राकेश सिंह ने गोद ले रखा है. इस गांव को शिवराज सरकार के दौरान आदर्श गांव का तमगा दिया गया था.

बहरहाल विधायक संजय यादव ने बच्चों की समस्या तत्काल दूर करने का आश्वासन दिया है. उन्होंने बताया कि पूरे बरगी विधानसभा क्षेत्र में शिक्षकों के 150 से भी पद खाली हैं. वो काफी पहले सीएम को पत्र लिख चुके हैं.

Related Articles

Close