राजनीति

संजय राउत ने बीजेपी पर बोलते हुए कहा अंत की शुरुआत

 
मुंबई

महाराष्‍ट्र में सत्‍ता के नजदीक पहुंचकर भी दूर हुई शिवसेना के नेता संजय राउत ने कहा है कि महाराष्‍ट्र से बीजेपी के अंत की शुरुआत होगी। उन्‍होंने कहा कि शरद पवार एक राष्‍ट्रीय नेता हैं और यदि बीजेपी राज्‍य में सरकार बनाने का प्रयास कर रही है तो यह होने नहीं जा रहा है। राउत ने कहा कि बीजेपी और अजित पवार ने गलत कदम उठाया है। उन्‍होंने दावा किया कि शिवसेना, कांग्रेस और एनसीपी के पास 165 विधायक हैं।

राउत ने रविवार को मीडिया से बातचीत में कहा कि जब जनता सोई हुई थी तब देवेंद्र फडणवीस ने शपथ ली। यह एक ऐक्सिडेंटल शपथ है और अब बीजेपी आईसीयू में है। उन्‍होंने कहा कि मेरी वजह से बीजेपी के साथ शिवसेना का गठबंधन नहीं टूटा है। संजय राउत ने एक टीवी चैनल से बातचीत में कहा, 'हम सरकार बनाने जा रहे जा रहे थे लेकिन फडणवीस ने पॉकेटमारी की है। हमारे ऊपर कितना भी जुल्‍म करेंगे, हम झुकेंगे नहीं। हमारा शाप है कि बीजेपी वाले खत्‍म हो जाएंगे।'

'शिवसेना-कांग्रेस-एनसीपी के साथ 165 विधायक'
उन्‍होंने कहा, 'शरद पवार एक राष्‍ट्रीय नेता हैं और यदि बीजेपी सरकार बनाने का प्रयास कर रही है तो यह होने नहीं जा रहा है। बीजेपी और अजित पवार ने गलत कदम उठाया है। शिवसेना-कांग्रेस-एनसीपी के साथ 165 विधायक हैं। अजित पवार ने शनिवार को राजभवन में फर्जी दस्‍तावेज पेश किया और राज्‍य के राज्‍यपाल ने उसे स्‍वीकार कर लिया।' राउत ने कहा कि सीबीआई, ईडी, इनकम टैक्‍स और पुलिस ये चारों बीजेपी के पार्टी वर्कर हैं। वर्तमान राज्‍यपाल (भगत सिंह कोश्यारी) भी बीजेपी के वर्कर हैं। लेकिन बीजेपी अपने ही खेल में फंस गई है। यह उसके अंत की शुरुआत है।

इसलिए बगावत को मजबूर हुए अजित?
शिवसेना प्रवक्‍ता ने दावा किया कि अगर आज भी राज्‍यपाल ने बहुमत साबित करने के लिए कहा तो हम अभी कर सकते हैं। एनसीपी के 49 विधायक हमारे साथ हैं। इस बीच शिवसेना के मुखपत्र 'सामना' ने भी बीजेपी सरकार पर तीखा हमला बोला है। सामना ने लिखा, 'यह रात के अंधेरे में लोकतंत्र की हत्‍या' जैसे है। उसने ल‍िखा कि इस कदम के बाद अब अजित पवार बुरी तरह से फंस गए हैं।

हम और शरद पवार साथ: उद्धव ठाकरे
बता दें कि शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे ने भी कहा था कि यह केवल 'मैं' की लड़ाई है। उन्‍होंने कहा, 'शिवाजी का यह महाराष्‍ट्र केवल बोलने तक सीमित नहीं है। पीठ पर वार होने पर शिवाजी ने क्‍या किया था, यह सबको पता है, इसलिए कोई ऐसा करने की कोशिश नहीं करे। मर्द मावले हमेशा मैदान-ए-जंग के लिए तैयार रहते हैं। रात का खेल खेलकर, गुफ्तगू करके सत्‍ता नहीं मिलती है। इसलिए हम और शरद पवार साथ आए हैं। आगे की लड़ाई भी साथ मिलकर लड़ेंगे।

Related Articles

Close