जबलपुर

IAS के विदेश में निवेश पर वित्त मंत्री का बयान- अफसर हो या नेता कार्रवाई जरूर करेंगे

जबलपुर
ई टेंडर घोटाले (E tender Scam) में जांच एजेंसी (Investigation Agency) के सामने नित नए खुलासे (revelation) हो रहे हैं. भाजपा सरकार में ई प्रोक्योरमेंट सिस्टम (E Procurement System) में गड़बड़ी मिलने के बाद इस पूरे घोटाले (Scam) का खुलासा हुआ था. जिस पर बीते साल 10 अप्रैल को ईओडब्ल्यू (EOW) ने एफआईआर (FIR) दर्ज करते हुए करीब 3000 करोड़ के 9 टेंडरों की जांच शुरू की थी. हाल ही में घोटाले को लेकर चल रही जांच में एक और बड़ा खुलासा हुआ है. सूत्रों के मुताबिक, प्रदेश में पदस्थ एक सीनियर आईएएस अफसर द्वारा शैल कंपनियों के जरिए विदेश में निवेश किया गया है और बड़ी राशि भेजी गई है. बताया जा रहा है कि विदेशों में अपने संपर्क सूत्र के ज़रिये उन्होंने ये निवेश किया है.

न्यूज 18 से खास बातचीत करते हुए वित्त मंत्री तरुण भनोत ने बताया कि बीते सालों में प्रदेश में पैसे तो खूब खर्च हुए लेकिन उन पैसों का सही इस्तेमाल नहीं हुआ. नतीजतन विकास भी देखने को नहीं मिला. भनोत ने आरोप लगाया कि जहां पैसा लगना था, वह पैसा वहां नहीं लगा. इसलिए जिन लोगों की मार्फत ये पूरा काम हुआ, उनकी जांच अब एजेंसी कर रही हैं. प्राथमिक जांच में यह बात स्पष्ट हुई है कि आईएएस हो या फिर आईपीएस या फिर मंत्री, सभी तरह के लोग इसमें दोषी हैं और जो भी हो उन पर कार्रवाई जरूर की जाएगी.

Related Articles

Close