भोपाल

इस वर्ष 150 आदिवासी विद्यार्थियों को विदेश अध्ययन छात्रवृत्ति और कोचिंग सुविधा

 भोपाल

इस वर्ष प्रदेश के 150 आदिवासी विद्यार्थी विदेश अध्ययन छात्रवृत्ति योजना और अखिल भारतीय सेवाओं की परीक्षा के लिये कोचिंग सुविधा योजना से लाभान्वित किये जाएंगे। चयनित विद्यार्थियों में से 50 विद्यार्थियों को विदेश अध्ययन छात्रवृत्ति प्रदान की जाएगी। शेष 100 विद्यार्थियों को सिविल सेवा परीक्षाओं की कोचिंग सुविधा से लाभान्वित किया जाएगा। ये योजनाएँ आदिम जाति कल्याण विभाग द्वारा संचालित की जा रही हैं। इन योजनाओं की विस्तृत जानकारी विभागीय पोर्टल www.tribal.mp.gov.in पर उपलब्ध है।

विदेश अध्ययन छात्रवृत्ति योजना में आदिवासी विद्यार्थियों को विदेशों के उच्च शिक्षा संस्थानों में इंजीनियरिंग, प्रौद्योगिकी और विज्ञान पाठ्यक्रमों में मास्टर डिग्री प्राप्त करने के लिये प्रति वर्ष वास्तविक शिक्षण शुल्क अथवा 40 हजार यूएस डॉलर, जो भी कम हो, उपलब्ध कराया जाएगा। यह राशि संबंधित शिक्षा संस्थान में सीधे ट्रांसफर की जाएगी। विद्यार्थी को 9000 यूएस डॉलर निर्वाह भत्ता और 1000 यूएस डॉलर आकस्मिक भत्ता दिया जाएगा।

संघ लोकसेवा आयोग की विभिन्न प्रतियोगी परीक्षाओं की कोचिंग के लिये आदिवासी विद्यार्थियों को अधिकतम दो लाख रुपये अथवा कोचिंग का वास्तविक शुल्क, जो भी कम हो, प्रदान किया जाएगा। नई दिल्ली में इम्पेनल्ड कोचिंग इंस्टीट्यूट में यह सुविधा उपलब्ध कराई जाएगी। विद्यार्थियों को प्रतियोगी पुस्तकें खरीदने के लिए एक मुश्त 15 हजार रुपये की राशि प्रदान की जाएगी।

Tags

Related Articles

Close