व्यापार

शेयर बाजार पर कल होगी सबकी नजर, ये 4 फैक्टर तय करेंगे चाल

नई दिल्ली
भारतीय शेयर बाजार की चाल इस हफ्ते जारी होने वाले प्रमुख आर्थिक आंकड़ों से तय होगी. हालांकि बाजार पर देश-विदेश के ताजा घटनाक्रमों का असर देखने को मिलेगा. इसके अलावा, विदेशी पोर्टफोलियो निवेशकों और घरेलू संस्थागत निवेशकों के निवेश रुझानों से भी बाजार की दिशा तय होगी. वहीं, डॉलर के मुकाबले रुपये की चाल और अंतरराष्ट्रीय बाजार में कच्चे तेल के भाव पर बाजार की नजर रहेगी.  
सप्ताह के आरंभ में सोमवार को औद्योगिक व विनिर्माण क्षेत्र के उत्पादन के आंकड़े जारी हो सकते हैं, जिससे यह जानने को मिलेगा कि देश में सितंबर महीने में औद्योगिक उत्पादन की रफ्तार कैसी रही। इसका असर बाजार पर देखने को मिलेगा. वहीं गुरुवार को ही थोक महंगाई दर के अक्टूबर महीने के आंकड़े जारी होंगे जिनका बाजार को इंतजार रहेगा.  
वहीं, देश की कुछ प्रमुख कंपनियां चालू वित्त वर्ष की दूसरी तिमाही के अपने वित्तीय नतीजे इस सप्ताह जारी करेंगी, जिन पर निवेशकों की निगाहें होंगी। अदाणी पोर्ट्स एंड स्पेशल इकॉनोमिक जोन, कोल इंडिया और हिंडाल्को इंडस्ट्रीज अपने वित्तीय नतीजे सोमवार को जारी करेंगी जबकि ग्रासिम इंडस्ट्रीज और ओएनजीएस के वित्तीय आंकड़े गुरुवार को जारी होंगे.  
बाजार के जानकार बताते हैं कि बीते सप्ताह के आखिर में शनिवार को राम जन्मभूमि मालिकाना हक मामले में सुप्रीम कोर्ट का बहुप्रतीक्षित फैसला आने के बाद इस काफी पुराने मामले का अंत होने से जो माहौल बना है, उसका असर वित्तीय बाजार पर भी दिखेगा.  
उधर, अमेरिका में अक्टूबर महीने के लिए बिक्री के आंकड़े शुक्रवार को जारी किए जाएंगे और जापान में जीडीपी वृद्धि दर के आंकड़े जारी होंगे. इन सबके अलावा, अमेरिका और चीन के बीच व्यापारिक समझौते की दिशा में होने वाली प्रगति पर बाजार की नजर बनी रहेगी. अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने शनिवार को कहा कि चीन के साथ व्यापार वार्ता सही दिशा में चल रही है. लेकिन अमेरिका तभी चीन के साथ करार करेगा जब करार अमेरिका के लिए सही होगा.  

Related Articles

Close