छत्तीसगढ़रायपुर

राज्योत्सव में दिव्यांग बच्चों द्वारा बनाई गई पेंटिंग्स और गायन को मिल रही सराहना

रायपुर
छत्तीसगढ के 20वें राज्य स्थापना दिवस के अवसर पर राजधानी रायपुर के साइंस कॉलेज मैदान में आयोजित राज्योत्सव में समाज कल्याण विभाग द्वारा लगाए गए स्टॉल में दिव्यांग बच्चों द्वारा बनाई गई पेंटिंग्स और गायन को बहुत सराहना मिल रही है। ये पेंटिंग्स स्टॉल में प्रदर्शन और विक्रय के लिए रखी गई हैं। इसके साथ ही मोर रायपुर स्वच्छ रायपुर थीम सॉग गाने वाली रायपुर के मठपुरैना स्थित शासकीय श्रवण एवं दृष्टि बाधित विद्यालय की छात्राओं ने राज्य शासन की महत्वाकांक्षी योजना नरवा, गरूवा, घुरवा, बारी पर गीत गाकर लोगों का दिल जीत लिया है। समाज कल्याण मंत्री श्रीमती अनिला भेंडि?ा ने स्टॉल का निरीक्षण कर सराहना की और कहा विभागीय योजनाओं को अधिक से अधिक लोगों तक पहुंचाने का प्रयास किया जाए।

स्टॉल में विभाग द्वारा संचालित राष्ट्रीय और राज्य पेंशन योजनाओं, नशामुक्ति, सेरेब्रेल पल्सी गेट लैब, क्रित्रिम अंग एवं अन्य सहायक उपकरण प्रदाय सहित विभिन्न योजनाओं के बारे में भी लोगों को जागरूक किया जा रहा है। यहां महात्मा गांधी की 150 वीं जयंती के अवसर पर शुरू हुए 'कायार्जंली' कार्यक्रम के अंतर्गत प्रत्यके जिले में राज्य शासन द्वारा स्थापित किये जा रहे सियान चौपाल के मॉडल का प्रदर्शन किया गया है। सियान चौपाल ऐसे स्थान हैं, जहां बुजुर्ग मनोरंजन और विचार-विमर्श कर सकें। सरकार द्वारा बुजुर्गों के पढ?े और खेलने लायक सामग्रियों की व्यवस्था भी सियान चौपाल में होगी। स्टॉल में विभागीय अधिकारियों और कर्मचारियों द्वारा लोगों को समाज कल्याण और दिव्यांगों के सशक्तिकरण संबंधित योजनाओं के बारे में विस्तार से बताया जा रहा है। इसके साथ ही प्रदर्शन, पॉम्पलेट, फ्लैक्स, एल.ई.डी., मॉडल जैसे गई माध्यमों से लोगों तक जानकारी पहुंचाई जा रही है। कलापथक दल के द्वारा भी गीत-संगीत के माध्यम से योजनाओं के बारे में बताया जा रहा है।

 

Related Articles

Close