देश

यूपी में प्रदूषण और स्मोग का कहर जारी,  सीएम योगी ने बुलाई आपात बैठक

लखनऊ । उत्तर प्रदेश के कई जिलों में प्रदूषण के बढ़े स्तर और धुंध को लेकर मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने अहम बैठक बुलाई है। सूत्रों के अनुसार इस बैठक में मुख्य सचिव और प्रमुख सचिव पर्यावरण मौजूद रहे। बता दें यूपी में प्रदूषण का कहर थम नहीं रहा है। करीब-करीब पूरे प्रदेश में स्मॉग ने वातावरण को अपने आगोश में ले रखा है। स्थिति ये है राज्य के आठ बड़े शहर देश के सर्वाधिक प्रदूषित शहरों की सूची में शामिल हैं। इनमें गाजियाबाद, ग्रेटर नोएडा, नोएडा, हापुड़, बागपत, कानपुर, बुलंदशहर और मेरठ में बढ़ता प्रदूषण लोगों के लिए चिंता का सबब बन गया है। 
स्थिति यह है कि 493 एअर क्वालिटी इंडेक्स (एक्यूआई) के चलते गाजियाबाद देश का सबसे प्रदूषित शहर बन गया है। इसी तरह 480 एक्यूआई के साथ ग्रेटर नोएडा दूसरे, 477 एक्यूआई के साथ नोएडा देश में प्रदूषित शहरों में तीसरे नंबर पर है। इसी तरह हापुड़ में 462 एक्यूआई, बागपत में 450 अक्यूआई, कानपुर में 424 एक्यूआई, बुलंदशहर में 403 एक्यूआई और मेरठ में 400 एक्यूआई रिकॉर्ड किया गया।
उधर धुंध के असर के चलते यातायात भी बुरी तरह प्रभावित हुआ है। आगरा एक्सप्रेसवे और यमुना एक्सप्रेस पर यातायात धीमा हो गया है। गाड़ी चलाने में लोगों को दिक्कत हो रही है। यही नहीं धुंध ने ताजमहल पर ऐसी चादर तानी है कि आगरा किले से ताजमहल ठीक से नजर नहीं आ रहा है। सफेद संगमरमर से बने ताजमहल की चमक ऐसी है कि तीन किलोमीटर दूरी से भी ताज स्पष्ट नजर आ जाता है। दीपावली के बाद प्रदूषण के खतरनाक स्तर से ताज के चारों तरफ धुंध पसरी हुई है। 
 

Tags

Related Articles

Close