देश

पाक पहले आतंकियों के खिलाफ प्रभावी कार्रवाई करे फिर बताए उसने क्या अच्छे काम किए 

नई दिल्ली । भारत ने पाकिस्तान द्वारा विदेशी राजनयिकों को पाक के कब्जे वाले कश्मीर (पीओके) ले जाने को 'नौटंकी' करार दिया है। भारत ने पाकिस्तान को नसीहत दी कि वह पहले आतंकवाद के खिलाफ प्रभावी कार्रवाई करके दिखाए, इसके बाद विदेशी राजनयिकों को दिखाए कि उसने कितना अच्छा काम किया है। 
विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता रवीश कुमार ने कहा हम इसे एक नाटक से ज्यादा कुछ नहीं मानते हैं। पाकिस्तान इस तरह का खुला दुष्प्रचार तब कर रहा है जब कि पाकिस्तान अपने कब्जे वाले कश्मीर के लोगों से ही संघर्ष कर रहा है। इसलिए वह वास्तविकता से दूर दूसरी तस्वीर पेश करने की कोशिश कर रहा है। विदेश मंत्रालय ने पाकिस्तान द्वारा अपने दूतावासों में स्थापित कश्मीर प्रकोष्ठों की गतिविधियों के खिलाफ विदेशी सरकारों को भी आगाह किया है। मंत्रालय ने कहा इस नई इकाई का उद्देश्य दुष्प्रचार के आधार पर लोगों को कट्टरपंथी बनाना है। भारतीय तोपों द्वारा की गई कार्रवाई के बाद पाकिस्तान अपने कब्जे वाले कश्मीर में विदेशी राजनयिकों को दौरे पर ले गया था। 
इस पर रवीश कुमार ने कहा सभी जानते हैं कि आतंकियों के लांच पैड नियंत्रण रेखा के करीब हैं, जिनका इस्तेमाल आतंकवादियों को भारत में घुसपैठ कराने के लिए किया जाता है। उन्होंने कहा यूएस कांग्रेस ने इस मामले में सुनवाई करके भारत की लोकतांत्रिक व्यवस्था में दखल देने की कोशिश की है। कुमार ने कहा हम यूएस सरकार को लगातार कश्मीर की जानकारियां दे रहे हैं। उल्लेखनीय है कि पाकिस्तान बार-बार संयुक्त राष्ट्र में भी कश्मीर का मामला उठाता है और झूठी दलीलें देता है, लेकिन गुरुवार को भारत ने वहां भी पाक को लताड़ लगाई। 

Tags

Related Articles

Close