देश

पाकिस्तान का प्लान K-2, कश्मीरी और खालिस्तानी गुटों को मिलाकर बनाया नया फ्रंट ‘KKRF’

नई दिल्ली: पाकिस्तानी (Pakistan) खुफिया एजेंसी आईएसआई (ISI) ने पंजाब और कश्मीर में आतंकवाद को बढ़ावा देने के लिए बड़ी साजिश की है. भारतीय खुफिया एजेंसियों के मुताबिक पाकिस्तान की आइएसआई कश्मीर और खालिस्तानी आतंकियों को एक साथ मिलकर भारत में आपनी आंतकी गतिविधियों को तेज़ करने को कहा है .ख़ुफ़िया एजेंसीज़ के मुताबिक पाकिस्तान ने कश्मीर खालिस्तान रेफेरेंडम फ्रंट यानि Kashmir Khalistan Referendum Front (KKRF) नाम से एक नया गुट बनाया है जिसमे विदेशों में रह रहे खालिस्तानी समर्थकों और कश्मीरी अलगावादियो को एक साथ जोड़ने की भी कोशिश की जा रही है.

यूके, कनाडा और अमेरिका जैसे देशों में स्थित पाकिस्तानी हाई कमीशन और दूतावासो के जरिये पाकिस्तान इन ग्रुप्स को मजबूत करने में लगा हुआ है.रिपोर्ट के मुताबिक करतारपुर में गुरु नानक देव जी 550 वीं वर्षगांठ के दिन होने वाले कार्यक्रम में पाकिस्तान विदेशों में रह रहे खालिस्तानी समर्थकों को जुटाने में लगा हुआ है. 

ख़ुफ़िया एजेंसीज़ से जुड़े एक अधिकारी के मुताबिक पाकिस्तान में रह रहे खालिस्तानी आतंकियों और कश्मीरी आतंकियों को प्लान K-2 के तहत जोड़ा जा रहा है इसके लिए पाकिस्तान की आइएसआई ने इन आतंकियों के बीच कई राउंड की मीटिंग में करा चुकी है.
वहीं पाकिस्तान से आ रहे इस खतरे से निपटने के लिए और पंजाब में बढ़ रहे आतंकवाद को रोकने के लिए गृह मंत्रालय पंजाब में जॉइन्ट काउंटर आपरेशन सेंटर बनायेगी. जॉइन्ट काउंटर आपरेशन सेंटर में एनआईए, रॉ, आईबी ,पंजाब पुलिस और काउंटर टेरर की टीम्स को शामिल किया जाएगा.सूत्रों के मुताबिक पंजाब और कश्मीर में आतंकी हमलों और आतंकवाद को बढ़ावा देने के लिए पाकिस्तान प्लान के-2 चला रहा है.
पिछले कुछ महीनों में  आईएसआई खालिस्तानी समर्थको की मदद से पंजाब में युवकों को आतंकी गुटों में भर्ती करने के साज़िश रची जा रही है. यही नही ड्रोन्स के जरिये भी पंजाब में हथियारों की सप्लाई की जा रही है. जॉइन्ट काउंटर आपरेशन सेंटर में खुफिया एजेंसियां पाकिस्तान की साजिश को समय रहते जहां नाकाम करेंगी वहीं किसी भी आतंकी हमले की सूरत में काउंटर टेरर टीम आंतकियों से निपटेंगी. गृह मंत्रालय पंजाब के पठानकोट में एनएसजी ब्लैक कैट कमांडोज़ की भी तैनाती करने की योजना बना रही है. एनएसजी की SAG -51 क्रैक टीम को तैनात कर सकती है जिसे आतंकियो से निपटने में महारत हासिल है.
 

Tags

Related Articles

Close