जबलपुर

कोर्ट-कलेक्टर के खिलाफ अवमानना नोटिस

जबलपुर। मध्यप्रदेश हाईकोर्ट ने अपने पूर्व आदेश की नाफरमानी के रवैये को आड़े हाथों लिया। इसी के साथ कलेक्टर छिंदवाड़ा के खिलाफ अवमानना नोटिस जारी कर दिया। न्यायमूर्ति बीके श्रीवास्तव की एकलपीठ के समक्ष मामले की सुनवाई हुई। इस दौरान अवमानना याचिकाकर्ता छिंदवाड़ा निवासी भोपाल वर्मा की ओर से अधिवक्ता शीतला प्रसाद त्रिपाठी

Image result for judge order

जबलपुर।

मध्यप्रदेश हाईकोर्ट ने अपने पूर्व आदेश की नाफरमानी के रवैये को आड़े हाथों लिया। इसी के साथ कलेक्टर छिंदवाड़ा के खिलाफ अवमानना नोटिस जारी कर दिया।

न्यायमूर्ति बीके श्रीवास्तव की एकलपीठ के समक्ष मामले की सुनवाई हुई। इस दौरान अवमानना याचिकाकर्ता छिंदवाड़ा निवासी भोपाल वर्मा की ओर से अधिवक्ता शीतला प्रसाद त्रिपाठी व सुशील त्रिपाठी ने पक्ष रखा। उन्होंने दलील दी कि ग्राम बाम्हनबाड़ा, जिला छिंदवाड़ा में अवमानना याचिकाकर्ता के पिता के नाम पर जमीन है। 30 अगस्त 2002 को जो वसीयत की गई, उसके अनुसार अवमानना याचिकाकर्ता भूमि का मालिक हो गया। माचागोरा बांध निर्माण के कारण भूमि डूब क्षेत्र में आ गई। सूचना-पत्र के जरिए अवगत कराया गया कि 4 लाख 72 हजार 950 रुपए मुआवजा राशि स्वीकृत हुई है। लेकिन वसीयत सहित अन्य दस्तावेज पेश करने के बावजूद अब तक राशि का भुगतान नहीं किया गया। इस रवैये के खिलाफ हाईकोर्ट में याचिका दायर की गई थी। कोर्ट ने 120 दिन के भीतर राशि का भुगतान करने कहा था। इसके बावजूद ऐसा नहीं किया गया। इसीलिए अवमानना याचिका दायर की गई।

Related Articles

Close