मध्य प्रदेश

मुम्बई की जहाँगीर आर्ट गैलरी में देखने को मिलेगी राहत की कला 

इन्दौर । इन्दौर शहर में जन्मी युवा आर्टिस्ट राहत काज़मी की पेंटिग्स मुम्बई की जहाँगीर आर्ट गैलरी में प्रदर्शित की जाएगी। ये आर्ट वर्क एग्जीबिशन मुम्बई की जहाँगीर आर्ट गैलरी में 22 से 27 अक्टूबर तक लगेगी। राहत काज़मी एब्सट्रेक्ट शैली में काम करती हैं और अक्सर ब्राइट कलर का इस्तेमाल करती हैं। राहत ने प्रदर्शनी के लिए ख़ास पेंटिंग्स तैयार की है, जिसकी नुमाइश करेंगी। उनके कलेक्शन में फ्यूज़न पेंटिंग्स और नाचती हुई बैलेरीना देखने को मिलेगी। एग्जीबिशन में सैकड़ों आर्टिस्ट एक छत के नीचे अपनी कला को पेश करेंगे।इस एग्जीबिशन में देश-विदेश के जाने माने कलाकारों की पेंटिग्स शामिल रहेगी।अंतरराष्ट्रीय आर्टिस्ट सुनील गुप्ता,गीतादास आदि नामवर आर्टिस्ट अपनी कला की खूबसूरती बताएंगे।  प्रदर्शनी में दिल्ली, बैंगलोर, गुजरात, महाराष्ट्र, मध्यप्रदेश सहित देशभर के आर्टिस्ट शिरकत करेंगे। संस्था आर्ट टाइम्स के तत्वावधान में लगने वाली इस प्रदर्शनी के क्यूरेटर सुनील गुप्ता हैं। बताते हैं कि राहत काज़मी ने बचपन से अपने दादा अब्दुल कादिर (जावरा) से चित्रकला सीखी। मुम्बई की विभिन्न आर्ट गैलरी में राहत काज़मी की पहले भी अलग-अलग नुमाइश में पेंटिंग लग चुकी है। हाल ही में होटल ताज में भी नुमाइश में पेंटिंग प्रदर्शित की गई। तक़रीबन 2000 से अधिक पेंटिंग बना चुकी राहत के पास अभी 200 पेंटिंग्स का कलेक्शन है। जिसमें 50 पेंटिंग्स एक लाख से ज़्यादा कीमत की है। देश के नामवर आर्किटेक्ट ज़फ़र चौधरी के साथ लुधियाना में एक प्रोजेक्ट पूरा किया है।  भोपाल के आर्किटेक्ट अजय कटारिया के साथ भी प्रोजेक्ट किये हैं । अनेक इंटीरियर और आर्किटेक्ट राहत से पेंटिंग लेते हैं।  उन्होंने युवा आर्टिस्ट्स के लिए कहा कि हमारे काम और समर्पण से हमारा भविष्य तय होता है। उन्होंने कहा जज़्बे के साथ ज़रूरी है कि जो भी पेंटिंग्स बनाएँ दिल से बनाएं। फिर देखें उसका मैसेज कैसे लोगों के दिलों को छूता है। एक आर्टिस्ट अपनी खास निगाह से दुनिया को देखने की कोशिश करता है और बताता है कि वह जहाँ से देख रहा, वहाँ से देखने की कोशिश की जाएगी तो दुनिया शायद कुछ बेहतर दिखाई देगी। राहत के मुताबिक दुनिया को, उसके सुख-दुःख को, एक चित्रकार की निगाह से देखने की कोशिश भी की जाए। उन्होंने कहा कि सरकार को चाहिए जगह-जगह आर्ट गैलरी बनाएं। आर्टिस्ट को सपोर्ट करे ताकि अंतराष्ट्रीय स्तर पर भारतीय कला का नाम रोशन होता रहे।

Tags

Related Articles

Close