मध्य प्रदेश

स्मार्ट औद्योगिक पार्क के जरिये 10,000 करोड़ का निवेश जुटायेगी मप्र सरकार

इंदौर । मप्र की आर्थिक राजधानी इंदौर में 18 अक्टूबर को होने वाले निवेशक सम्मेलन मैग्निफिसंट मध्यप्रदेश" से पहले धार जिले में स्मार्ट औद्योगिक पार्क का निर्माण कार्य पूरा कर लिया गया है। सूबे के सबसे बड़े औद्योगिक क्षेत्र पीथमपुर के पास बने इस पार्क के द्वारा करीब 10,000 करोड़ का नया निवेश जुटाने की सरकारी कवायद शुरू हो गई है। अधिकारियों ने बताया कि इंदौर से करीब 40 किलोमीटर दूर पीथमपुर के आस-पास औद्योगिक भूमि की सबसे ज्यादा मांग है। इसकारण राज्य सरकार ने केंद्र की राष्ट्रीय वाहन परीक्षण पथ (नेट्रैक्स) परियोजना से करीब 478 हेक्टेयर की अतिरिक्त भूमि वापस लेकर इस पर नया औद्योगिक पार्क विकसित किया है। इस पार्क के विकास पर करीब 375 करोड़ रुपये की लागत आई है। उन्होंने बताया कि कमलनाथ सरकार द्वारा आयोजित इस पहले निवेशक सम्मेलन की पूर्व संध्या पर मुख्यमंत्री स्मार्ट औद्योगिक पार्क का 17 अक्टूबर को इंदौर से ई-लोकार्पण होगा। अधिकारियों ने बताया कि इस औद्योगिक पार्क में कुल 60 औद्योगिक इकाइयां को जगह दी सकती है। इस पार्क के द्वारा करीब 10,000 करोड़ का नया निवेश जुटाने की कोशिश की जा रही है। निवेश के बाद इकाइयां शुरू होने पर इस पार्क में 15,000 से ज्यादा लोगों को सीधा रोजगार मिलना संभावित है। अधिकारियों ने बताया कि बुनियादी और सामाजिक सुविधाओं से लैस यह पार्क सूबे की पहली एकीकृत औद्योगिक टाउनशिप है। इसमें लगभग 262 हेक्टेयर भूमि औद्योगिक इकाइयों के लिए आरक्षित है। इसके अलावा, वहां आवासीय और व्यावसायिक भूखंडों के साथ शैक्षणिक परिसरों और अस्पतालों सरीखी सामाजिक सुविधाओं के लिये भी जगह तय की गई है। सरकार के निवेशक सम्मेलन में उद्योग जगत के 600 से ज्यादा नुमांइदों के हिस्सा लेने की उम्मीद है। इस दौरान लॉजिस्टिक्स, माल के भण्डारण, कृषि प्रसंस्करण,पर्यटन, फार्मा और सूचना प्रौद्योगिकी (आईटी) समेत विभिन्न क्षेत्रों में निवेश आकर्षित करने की कोशिश की जायेगी।

Tags

Related Articles

Close