देश

झांसी एनकाउंटर पर सीएम योगी आदित्यनाथ ने तोड़ी चुप्पी, बोले- दो बार हुई थी पुष्पेंद्र से मुठभेड़

लखनऊ. झांसी (Jhansi) में पुष्पेंद्र यादव (Pushpendra Yadav) की पुलिस एनकाउंटर (Police Encounter) में हुई मौत के बाद गरमाई सियासत पर पहली बार चुप्पी तोड़ते हुए मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ (CM Yogi Adityanath) ने समाजवादी पार्टी (Samajwadi Party) के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव (Akhilesh Yadav) को आड़े हाथ लिया. उन्होंने कहा कि पुष्पेंद्र यादव की पुलिस से दो बार अलग-अलग मुठभेड़ हुई थी, जिसमें वह मारा गया. उन्होंने अखिलेश यादव पर आरोप लगाते हुए कहा कि अपराधियों पर कार्रवाई होने से उन्हें बुरा लग रहा है.

न्यूज18 से बातचीत में मुख्यमंत्री ने कहा, "पहले दरोगा को गोली मारी गई. फिर दूसरी टीम ने रोकने की कोशिश की तो मुठभेड़ हुई और अपराधी मारा गया. जानबूझकर लोगों को नहीं मारा जा रहा है. मुझे लगता है कि अखिलेश यादव की जो प्रकृति रही है, उन्होंने सत्ता में रहते हुए भी हर माफिया, गुंडा, अपराधी और प्रदेश देश की सुरक्षा के लिए जो भी लोग खतरा बने हुए थे उनके सगे बने हुए थे. आज जब उनके अंदर भय पैदा हुआ तो इनको बुरा लगना स्वाभाविक है."

झांसी में जो कुछ हुआ वह एक एनकाउंटर था

उन्होंने कहा, "झांसी की घटना पूरी तरह इनकाउंटर की घटना है. गाड़ी के लिए किया गया एनकाउंटर नहीं था. लेकिन पुलिस को जब मैसेज किया की इंस्पेक्टर को गोली मारकर गाड़ी को लूटा गया है तो 40 किलोमीटर दूर पुलिस की दूसरी टीम से उसका सामना हुआ. जिसके साथ हुए मुठभेड़ में अपराधी मारा गया. इसमें जो भी होगा उसमें सख्त कार्रवाई की जाएगी. मुझे लगता है कानून हाथ में लेने की इजाजत किसी को नहीं है. न पुलिस को, न नेता को और न ही अपराधियों को. कानून का राज होगा."

प्रदेश में कानून-व्यवस्था की स्थिति पिछले 20 वर्षों में सबसे अच्छी

मुख्यमंत्री ने कहा, "अभी हमने एक और चीज अपने प्रदेश में किया है. जनता के प्रति जवाबदेही के लिए आइजीआरएस जनसुनवाई का जो कार्यक्रम है उसमें ऑनलाइन शिकायत की व्यवस्था तो है ही. साथ ही सीएम हेल्पलाइन के जरिए कहीं से भी शिकायत आती है तो एक एंटी करप्शन पोर्टल भी हम लोगों ने बनाया है. कोई भी भ्रष्टाचार से जुडी जानकारी देता है तो हम कार्रवाई करेंगे. जवाबदेही के लिए जनपद स्तर पर नोडल अधिकारी नियुक्त किए गए हैं. इन दोनों को और प्रभावी बनाने की कार्रवाई की जा रही है. मैं फिर कह सकता हूं कि प्रदेश में कानून-व्यवस्था की स्थिति पिछले 20 वर्षों में सबसे अच्छी स्थिति में है. इसको और भी बेहतर बनाने की दिशा में सरकार काम कर रही है. इसमें पुलिस बल के आधुनिकरण के साथ-साथ उनके बुनियादी सुविधाओं को बढ़ाने के लिए भी सरकार ने कार्रवाई प्रारंभ कर दिया है. भर्ती की प्रक्रिया को भी आगे बढ़ाएंगे.
 

Tags

Related Articles

Close