मनोरंजन

बेड शेयरिंग का कॉन्सेप्ट क्यों खत्म करने पर मजबूर हुए बिग बॉस, ये है असली वजह

सलमान खान का रियलिटी शो बिग बॉस 13 कई नए बदलावों के साथ लौटा। इसमें सबसे बड़ा बदलाव बीएफएफ का कॉन्सेप्ट लाना था । बीएफएफ यानी Bed Friend Forever। इसमें लड़के और लड़कियों को एक साथ बेड शेयर करना था । एक हफ्ते बाद ही इस कॉन्सेप्ट पर दर्शकों ने आपत्ति जताई और शो पर अश्लीलता परोसने के आरोप लगे। यहां तक कि सोशल मीडिया पर शो को बंद करने की भी मांग उठने लगी । टि्वटर पर #Boycott_BigBoss ट्रेंड करने लगा था । मंगलवार को टेलीकास्ट हुए शो में बिग बॉस ने इस कॉन्सेप्ट को ये कहते हुए वापस ले लिया कि कंटेस्टेंट एक-दूसरे को जान गए हैं । इस वजह से ये कॉन्सेप्ट खत्म किया जाता है। हालांकि कुछ कंटेस्टेंट अभी भी साथ में सो रहे हैं । बता दें कि ये मामला केंद्रीय सूचना प्रसारण मंत्री प्रकाश जावड़ेकर और सुप्रीम कोर्ट तक पहुंच गया था। कॉन्फ़ेडरेशन ऑफ ऑल इंडिया ट्रेडर्स (कैट) (Confederation Of All India Traders) ने प्रकाश जावड़ेकर को एक पत्र भेजकर कलर्स टीवी पर चल रहे टीवी शो 'बिग बॉस 13' के प्रसारण पर तुरंत रोक लगाने की मांग की थी। इस पत्र में 'बिग बॉस' पर कई गंभीर आरोप भी लगाए गए थे । बिग बॉस में अश्लीलता के खिलाफ मेरठ के लोग भी काफी आक्रोशित थे। इसके चलते शो के होस्ट सलमान खान के खिलाफ सुप्रीम कोर्ट में अश्लीलता फैलाने का मुकदमा दायर किया गया। सुप्रीम कोर्ट ने इस अर्जी को स्वीकार कर लिया था। अब जब बिग बॉस ने BFF कॉन्सेप्ट खत्म कर दिया है तो इस पर कार्रवाई का कोई सवाल नहीं उठता । अर्जी देने वाले नौचंदी क्षेत्र निवासी महासभा के अध्यक्ष अभिषेक सोम ने कहा था कि कलर्स टीवी पर बिग बॉस कार्यक्रम प्रसारित होता है। इसमें अश्लीलता, अनैतिकता का प्रचार धड़ल्ले से होता है। साथ ही कहा कि इस कार्यक्रम को देखकर देश का युवा संस्कार से दूर हो रहा है। बिग बॉस के BFF का फैसला हटाने के बाद विवाद ठंडा होता नजर आ रहा है ।

Tags

Related Articles

Close