मध्य प्रदेश

अचानक होने वाले छापों से परेशान मावा कारोबारियों ने लगाई मंत्री जी से गुहार, मिला ऐसा जवाब

ग्वालियरः मध्य प्रदेश में इन दिनों खाद्य विभाग एक्शन मोड में नजर आ रहा है, जिसके चलते मिलावटखोरों की नींद उड़ी हुई है. वहीं दीपावली नजदीक आते ही बाजार मे नकली और मिलावटी मावा का कारोबार जोर पकड लेता है, लेकिन इस बार जिस तरह से प्रशासन द्वारा मिलावट खोरों के खिलाफ कार्रवाई की जा रही है उससे इस कारोबार मे लिप्त लोगो की हवाइयां उडी हुई हैं. यही कारण है कि प्रशासनिक कार्रवाई को दीपवाली तक रोकने के लिए मावा व्यापारियों ने प्रदेश के खाद्य एवं नागरिक आपूर्ती मंत्री से मुलाकात कर अपनी बात रखी.

कारोबारियों का कहना था कि छापामार कार्यवाही के नाम पर उनके सेम्पल भरे जाते हैं, जिससे उनको खासी परेशानी होती है और आम लोगों में इसका गलत असर जाता है. लिहाजा अचानक होने वाली छापामार कार्रवाई को रोका जाना चाहिए. हालांकि इस मामले मे मंत्री प्रधुम्न सिंह तोमर ने मावा कारोबारियों को साफ कह दिया कि वो इस मामले मे उनकी मदद नहीं कर सकते हैं. उन्होने कहा कि अगर शुद्ध इमानदारी से काम करोगे तो कोई परेशानी नहीं होगी.

मंत्री जी ने आगे कहा कि, प्रदेश में चल रहा मिलावट का कारोबार किसी भी हालत मे नहीं होगा. कुल मिलाकर मंत्री के तेवर देखकर मावा कारोबारी उल्टे पैर वापस लौट गए. हालांकि व्यापारियों का भी कहना है कि उनके साथ के कुछ लोग मिलावट का काम करते हैं, ऐसे लोगों की वजह से सारे व्यापारी बदनाम हो रहे हैं. मिलावटखोर व्यापारियों की वह खुद प्रशासन को शिकायत करेंगे.
 

Tags

Related Articles

Close