मध्य प्रदेश

विश्वविद्यालयों में स्थापित होगी गाँधी पीठ : महाविद्यालयों में बनेंगे गाँधी स्तंभ

मुख्यमंत्री श्री कमल नाथ ने कहा है कि प्रदेश के सभी विश्वविद्यालयों में गाँधी पीठ स्थापित की जाएगी। साथ ही, हर महाविद्यालय में गाँधी स्तँभ बनाया जायेगा। इससे हम विद्यार्थियों को गाँधी जी के विचारों, सिद्धाँतों और उनके संघर्षों से अवगत करा सकेंगे। श्री कमल नाथ आज आर.सी.वी.पी. नरोन्हा प्रशासन अकादमी में महात्मा गाँधी की 150वीं जयंती पर आयोजित 'मैं हूँ गाँधी' समारोह को संबोधित कर रहे थे।

मुख्यमंत्री श्री कमल नाथ ने कहा कि हमारे नौजवान देश का भविष्य हैं। उन्हें यह तय करना होगा कि हम अपने देश का भविष्य किन विचारों के साथ सुरक्षित देखते हैं। उन्होंने कहा कि आज हमारा देश जाति, धर्म, भाषा, संस्कृति की इतनी विभिन्नतों के बीच भी अगर एकता के साथ एक झण्डे के नीचे खड़ा है, तो उसका श्रेय गाँधी जी के विचारों को जाता है। मुख्यमंत्री ने कहा कि भावी पीढ़ी को इसलिए गाँधी जी को जानना जरूरी है क्योंकि उन्हीं के दिखाए मार्ग से हम अपने देश को सुरक्षित रख सकते हैं। मुख्यमंत्री ने कहा कि शिक्षा के साथ युवाओं को ज्ञान अर्जित करने पर विशेष ध्यान देना चाहिए। उन्होंने कहा कि शिक्षा स्कूलों, कॉलेजों में मिलती है लेकिन ज्ञान हमें जीवन भर प्राप्त होता है, जो हमें हर चुनौती का सामना करने में सक्षम बनाता है।

उच्च शिक्षा मंत्री श्री जीतू पटवारी ने कहा कि अहिंसा, सहिष्णुता, सद्भाव, मानवता और समानता गाँधी जी के विचारों के प्रमुख केन्द्र रहे हैं। यही हमारे देश की विशेषता भी है। उन्होंने कहा कि युवा वर्ग को गाँधी जी के इन विचारों से रू-ब-रू कराने के लिए हमने महाविद्यालयों में अभियान छेड़ा है। राष्ट्रपिता महात्मा गाँधी के व्यक्तित्व और कृतित्व से नौजवान परिचित हों, यह आज की सबसे बड़ी आवश्यकता है। श्री पटवारी ने कहा कि 'मैं हूँ गाँधी' अभियान पर तैयार पोर्टल के माध्यम से भावी पीढ़ी को गाँधी दर्शन से अवगत कराया जाएगा। उच्च शिक्षा मंत्री ने बताया कि मुख्यमंत्री श्री कमल नाथ महाकौशल की उस धरती का प्रतिनिधित्व कर रहे हैं, जहाँ महात्मा गाँधी ने कई यात्राएँ की हैं। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री महात्मा गाँधी की सोच के अनुरूप कौशल विकास के जरिए युवाओं को रोजगार और स्व-रोजगार से जोड़ने का अभियान चला रहे हैं।

मुख्यमंत्री ने 'मैं हूँ गाँधी' मोहन से महात्मा तक प्रदर्शनी का शुभारंभ कर अवलोकन किया। श्री कमल नाथ ने माधवराव सप्रे संग्रहालय के निदेशक श्री विजयदत्त श्रीधर द्वारा संपादित गाँधी जी के समग्र जीवन दर्शन पर केन्द्रित 'वंदनीय बापू' एवं प्रोफेसर राम राजेश मिश्र की 'चित्रोपम गाँधी' पुस्तक का विमोचन किया। इस अवसर पर महात्मा गाँधी जी पर वृत्त चित्र प्रस्तुत किया गया। उच्च शिक्षा विभाग द्वारा गाँधी जी पर केन्द्रित निबंध, चित्रकला एवं पोस्टर प्रतियोगिता में विजयी छात्र-छात्राओं को मुख्यमंत्री ने पुरस्कृत किया।

स्वास्थ्य विभाग की निरामय प्रोत्साहन योजना एवं जननी योजना के पोर्टल का लोकार्पण

मुख्यमंत्री श्री कमल नाथ ने स्वास्थ्य विभाग द्वारा गर्भवती महिलाओं की उच्च जोखिम पहचान करने और प्रबंधन पर बनाए गए पोर्टल तथा आयुष्मान निरामय पोर्टल का लोकार्पण किया। प्रमुख सचिव स्वास्थ्य डॉ. पल्लवी जैन गोविल उपस्थित थीं। आभार प्रदर्शन प्रमुख सचिव उच्च शिक्षा श्री हरिरंजन राव ने किया।
 

Tags

Related Articles

Close